Action India
अन्य राज्य

नया कोरोना मरीज मिलने के बाद सरकारी कर्मचारियों की आवाजाही रोकी गयी

नया कोरोना मरीज मिलने के बाद सरकारी कर्मचारियों की आवाजाही रोकी गयी
X

गोरखपुरस । एएनएन (Action News Network)

जिले में दूसरा कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद पुलिस-प्रशासन हालात को काबू में करने को जिले के सीमाई क्षेत्रों में सख्ती और बढ़ा दी है। सरकारी कर्मचारियों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है।

आदेश के मुताबिक अब दूसरे जिलों में तैनात कर्मचारी गोरखपुर से अन्य जिलों में ड्यूटी करने नहीं जा सकेंगे। दूसरे जिलों से गोरखपुर में ड्यूटी करने आने वाले कर्मचारी भी जिले में प्रवेश नहीं कर सकेंगे। ये कर्मचारी जहां तैनात हैं, अब उन्हें उसी जिले में रहना होगा। इतना ही नहीं, दूसरे शहरों से आने वाली एम्बुलेंस के चालकों को भी गोरखपुर में क्वारंटीन किया जाएगा। माना जा रहा है कि दिल्ली और मुम्बई जैसे शहरों से एम्बुलेंस लेकर गोरखपुर की सीमा में प्रवेश करने वाले एम्बुलेंस चालकों और सुरक्षा में तैनात स्वास्थ्य कर्मचारियों के जांच के बाद भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने की वजह से यह कदम उठाया गया है।

जिलाधिकारी ने कहा

जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि जिले की सीमा से आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। गंभीर मरीज सीएमओ की अनुमति के बाद ही अस्पताल भेजे जाएंगे। दूसरे शहरों से एम्बुलेंस में आने वाले मरीज सीधे अपने गांव नहीं जा सकेंगे। पहले उन्हें अस्पताल भेजा जाएगा। कोरोना जांच के बाद अगर रिपोर्ट निगेटिव आती है तो ही उन्हें गांव जाने दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले एम्बुलेंसों को किसी भी सूरत में जिले की सीमा में किसी को प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। पास को लेकर भी नियम सख्त कर दिए गए हैं। रेड जोन के क्षेत्रों के लिए पास नहीं जारी होगा। किसी को बहुत इमरजेंसी है या इलाज के लिए किसी दूसरे शहर के अस्पताल के लिए रेफर किया गया है तो विचार किया जा सकता है।

त्रिस्तरीय जांच होगी, ये होंगे जिम्मेदार

डीएम के. विजयेन्द्र पाण्डियन ने बताया कि गोरखपुर की सीमा में आने वाले वाहनों की त्रिस्तरीय जांच होगी। कोई व्यक्ति या वाहन प्रवेश कर जाता है तो सम्बंधित क्षेत्रों के एसडीएम और क्षेत्राधिकारी जिम्मेदार होंगे। हर पैदल आने जाने वालों पर विशेष नजर रखी जाएगी। हर बैरियर के पास क्वारंटीन सेन्टर बनाया जाएगा। सभी सेंटरों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। लॉकडाउन में लोगों को डोर स्टेप डिलेवरी और गरीबों को नि:शुल्क राशन पहुंचाने का कार्य अबाध गति से चलता रहेगा।

Next Story
Share it