Top
Action India

मुख्यमंत्री योगी के सलाहकार मृत्युंजय ने प्रियंका वाड्रा को पाकिस्तान प्रेम पर दिखाया आईना

मुख्यमंत्री योगी के सलाहकार मृत्युंजय ने प्रियंका वाड्रा को पाकिस्तान प्रेम पर दिखाया आईना
X

  • कहा झूठ के पैर नहीं होते, ज्यादा चलने पर हो जाता है डिलीट

  • बारिश-ओलावृष्टि पर ट्वीट कर प्रियंका विवादों में घिरीं

  • पाकिस्तान और राजस्थान की फोटो को यूपी की बताने की कोशिश हुई फेल

लखनऊ। एएनएन (Action News Network)

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर में बारिश और ओलावृष्टि से किसानों को हुए नुकसान को लेकर ट्वीट पर सवालों के घेरे में आ गई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने इसे झूठा बताते हुए प्रियंका को आईना दिखाया है।
प्रियंका ने शनिवार को ट्वीट करते एक वीडियो अपलोड किया। इसमें किसान बारिश और ओलावृष्टि से सरसों, ​गेहूं सहित अन्य फसलों का भारी नुकसान होने की बात कह रहे हैं।

वीडियो के अन्त में कहा गया है कि क्या सरकार फिर कोरे दावे करेगी या ​किसानों को मुआवजा मिलेगा। प्रियंका वाड्रा ने इस वीडियो के साथ ट्वीट करते हुए कहा कि इन किसानों का दर्द सुनिए। ओलावृष्टि और भारी बारिश के चलते उत्तर प्रदेश की तमाम जगहों पर किसानों की फसल बर्बाद हो गई। कई किसानों की तो 80 प्रतिशत तक फसल बर्बाद हो गई है। उन्होंने कहा कि यूपी की भाजपा सरकार को कोरे दावे करने की बजाय नुकसान का पूरा आकलन करके किसानों को उचित मुआवजा देना चाहिए।

इस ट्वीट पर सवाल खड़े करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने प्रियंका के दावों की पोल खोलते हुए ट्वीट किया कि झूठ के पैर नहीं होते, ज्यादा चलने पर वो अक्सर गिर मेरा मतलब डिलीट हो ही जाता है। दरअसल प्रियंका वाड्रा द्वारा पहले अपलोड फोटो को डिलीट कर दिया गया।

मृत्युंजय कुमार ने प्रियंका को आईना दिखाते हुए कहा कि माना आपकी पार्टी को पाकिस्तान से अधिक प्रेम है लेकिन पाकिस्तान और आपके अपने राज्य राजस्थान की फोटो को उत्तर प्रदेश की बताकर ना डालें। मृत्युंजय कुमार ने इन तस्वीरों की सच्चाई को भी प्रमाण के साथ सामने रखा।
वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही बारिश-ओलावृष्टि के सम्बन्ध में जिलाधिकारियों को निर्देश दे चुके हैं। उन्होंने राज्य के विभिन्न जनपदों में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने को कहा है।

मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने-अपने जनपद में फसलों को हुए नुकसान का तत्काल आकलन करते हुए शासन को आख्या उपलब्ध कराएं। राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि जन हानि, पशु हानि एवं मकान क्षति से प्रभावित व्यक्तियों को चौबीस घण्टे के भीतर सहायता राशि उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने राज्य आपदा मोचक निधि के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पीड़ितों को अनुमन्य वित्तीय मदद उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए हैं।

Next Story
Share it