Top
Action India

मुलायम ने अखिलेश के साथ मनाया जन्मदिन, सपा कार्यालय में 81 किलो का लड्डू काटा

मुलायम ने अखिलेश के साथ मनाया जन्मदिन, सपा कार्यालय में 81 किलो का लड्डू काटा
X

  • राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दी बधाई

लखनऊ।

समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में अपने पुत्र और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ अपना जन्मदिन मनाया। उन्होंने 81 किलो का लड्डू काटा। इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, उदय प्रताप सिंह, अहमद हसन, धर्मेन्द्र यादव सहित विभिन्न नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे। नेताओं ने मुलायम को जन्मदिन की शुभकामना देने तुए उनकी दीर्घायु की कामना की। इस मौके पर मुलायम ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार जताते हुए गरीबों का जन्मदिन मनाने का आह्वान किया।

https://twitter.com/myogiadityanath/status/1197724844651163650

सपा संरक्षक ने कहा कि अब ​नौजवानों को आगे आना चाहिए क्योंकि आने वाले समय में पार्टी नौजवानों के हाथ में होगी। कार्यकर्ता पार्टी को आगे बढ़ाने के लिए जुटें और आगे चलकर मुलायम सिंह यादव बनें। उन्होंने कहा कि समाजवादी हमेशा अन्याय के खिलाफ लड़ते रहे हैं, इसलिए वादा सोच समझकर किया जाना चाहिए। वादाखिलाफी नहीं होनी चाहिए। भाषण के दौरान कार्यकर्ताओं की लगातार नारेबाजी होने पर मुलायम को उनसे शांत रहने की अपील भी करनी पड़ी।

https://twitter.com/IPSinghSp/status/1197785185741205504

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुलायम सिंह यादव को जन्मदिन पर बधाई दी। राज्यपाल ने ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री आदरणीय मुलायम सिंह जी यादव को जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

https://twitter.com/aparnabisht7/status/1197745278658457600

]परम कृपालु परमात्मा से उत्तम स्वास्थ्य, दीर्घ आयु तथा समृद्धि प्रदान करें, ऐसी मंगलमय कामना करती हूं। समाजवादी पार्टी की ओर से इस पर राज्यपाल का आभार भी जताया गया। पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कहा गया कि आदरणीय नेताजी के जन्मदिन पर माननीय राज्यपाल महोदया जी द्वारा शुभकामनाएं देने पर हार्दिक धन्यवाद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा संरक्षक को अपनी शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। मैं प्रभु श्री राम से उनके स्वस्थ, सुदीर्घ, समृद्ध एवं सक्रिय जीवन की कामना करता हूं। मुलायम के जन्मदिन पर ट्विटर पर हैशटैग धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव ट्रेंड कर रहा है। इसके साथ हजारों लोगों ने ट्वीट किया है। मुलायम अपना जन्मदिन मनाने के लिए गुरुवार देर रात को विशेष विमान से लखनऊ पहुंचे थे। उनके साथ पूर्व कैबिनेट मंत्री नारद राय भी मौजूद थे।

इसके साथ ही सपा संरक्षक के 81वें जन्मदिन को लेकर शहर भर में बधाई संदेश देते हुए पोस्टर और होर्डिंग्स लगाए गए हैं। लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय को उनके समर्थकों ने पोस्टरों से पाट दिया है। यादव के समर्थकों ने उन्हें धरती पुत्र बताते हुए जन्मदिन की बधाई दी है। इससे पहले मुलायम के जन्म दिवस की पूर्व संध्या पर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हवन-पूजन कर उनकी दीर्घायु की कामना की। इस मौके पर कार्यकर्ताओं ने केजीएमयू में मरीजों और तीमारदारों को भोजन भी करवाया। पूर्व कैबिनेट मंत्री रविदास मेहरोत्रा ने मुलायम सिंह के जन्मदिन को 'लोकतंत्र बचाओ आंदोलन' के रूप में मनाने की अपील की है।

मुलायम ने लखनऊ आकर शिवपाल की उम्मीदों पर फेरा पानी
खास बात है कि सपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यकर्ताओं में मुलायम को बधाई देने के लिए एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ मची हुई है। दोनों ही पार्टियों की ओर से मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन के मौके पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। मुलायम के छोटे भाई और प्रसपा (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल यादव ने भी उन्हें जन्मदिन पर बधाई देते हुए ट्विटर पर एक फोटो अपलोड की है, जिसमें मुलायम उनके सिर पर हाथ रखते हुए आशीर्वाद दे रहे हैं। शिवपाल ने गले में अपनी पार्टी के रंग की पट्टी भी पहनी है। उनकी पार्टी मुलायम के जन्मदिन को एकता दिवस के रूप में मना रही है। इस मौके पर सैफई के मास्टर चंदगीराम स्टेडियम में विराट दंगल का आयोजन किया गया है, जिसमें देश भर के पहलवान भाग ले रहे हैं। शिवपाल स्वयं इस कार्यक्रम में हैं।

इससे पहले कयास लगाये जा रहे थे कि मुलायम के जन्मदिन पर यादव कुनबा एक साथ नजर आ सकता है लेकिन मुलायम के नई दिल्ली से आने के बाद ही यह साफ हो गया कि वह अपने जन्मदिन पर पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं के बीच मौजूद रहेंगे। इससे प्रसपा (लोहिया) के कार्यकर्ताओं और विशेष रूप से शिवपाल यादव को निराशा हाथ लगी है। दरअसल शिवपाल यादव ने बीते दिनों कहा था कि उनकी पार्टी बिना शर्त अखिलेश यादव से मिलने को तैयार है। उन्होंने कहा कि मेरी इच्छा एक बार फिर से अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने की है। हम इसके लिए समाजवादी पार्टी से बिना किसी शर्त के गठबंधन को तैयार हैं। विधानसभा चुनाव 2022 में भले ही कुछ भी हो,अखिलेश ही मुख्यमंत्री बनेंगे।

शिवपाल यादव ने कहा कि सपा और प्रसपा एक हो जाए तो सरकार बना लेंगे। वह परिवार में एकता के हिमायती हैं और चाहते हैं कि सभी लोग एक रहें। उनकी इच्छा थी कि मुलायम के जन्मदिन पर सकारात्मक पहल हो और परिवार एक नजर आये, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। शिवपाल ने मुलायम के सैफई के दंगल कार्यक्रम में नहीं आने का हवाला देते हुए था कि नेताजी दिल्ली में हैं,लोकसभा सत्र चल रहा है। स्वास्थ्य कारणों से उनका आना मुश्किल है। हालांकि मुलायम ने लखनऊ आकर शिवपाल की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

Next Story
Share it