Top
Action India

कर्फयु के दौरान मंडियों में किया गया 3,28,870 क्विंटल फल एंव सब्जियों का व्यापार : बलदेव भण्डारी

नाहन । एएनएन (Action News Network)

कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड एवं कृषि उपज मण्डी समितियों द्वारा कर्फयु के दौरान प्रदेश की विभिन्न मंडियों में दो मई तक 3,28,870 क्विंटल फल एंव सब्जियों का व्यापार किया गया तथा भविष्य में आने वाले उत्पाद विशेषकर सेब के विपणन हेतु भी तैयारियां शुरू कर दी गई है। इस बारे में जानकारी देते हुए अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड बलदेव भण्डारी ने बताया कि विपणन बोर्ड तथा मण्डी समितियों द्वारा एचपी कोविड-19 सॉलिडेरिटी रिस्पांस फण्ड में मुबलिक एक करोड रूपये का अंशदान किया गया है।

इसके अतिरिक्त बोर्ड व समितियों के अध्यक्षों, अधिकारियों तथा कर्मचारियों से एकत्रित अंशदान भी शीघ्र ही किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कर्फयु के दौरान प्रदेश में सभी मंडियां खुली रखी गई जिससे प्रदेश में फल एंव सब्जियों की कोई कमी नही आई। फल एंव सब्जियों के थोक दाम सुक्ष्मता से मॉनिटर किए जा रहे है। कृषि उत्पाद को कर्फयु के दायरे से बाहर रखा गया है, जिससे प्रदेश का कृषि उत्पाद सीधे तौर पर पंजांब हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, गुजरात तथा अन्य राज्यों में विपणन हेतु भेजा जा रहा है। मंडियों में किसानों और बागवानों को इन कठिन हालातों में भी उनके उत्पाद के अच्छे दाम प्राप्त हो रहे है।

उन्होंने बताया कि उन्होंने बताया कि प्रदेश में इन दिनों हरा मटर, फूल गोभी इतियादी सब्जियों का विपणन हो रहा है तथा फलों में चेरी प्रदेश की मंडियों में आणि शुरू हो चुकी है। प्लम आड़ू मंडियों में आने वाले हैं और सेब की फसल भी जून 15 के उपरांत विपणन हेतु मंडियों में लाई जाएगी। प्रदेश में किसानो एवं बागवानों की सुविधा के लिए विभिन्न स्थानों पर 60 मंडियों/उप मंडियों तथा 41 संग्रह केन्द्रों का निर्माण किया गया तथा प्रदेश की 19 मंडियों को म.छ।ड से जोडा गया है। इसके अंतर्गत 59 उत्पादों का व्यापार हो रहा है।

Next Story
Share it