Top
Action India

खरीफ फसल के लिए सिरमौर में 1400 मृदा सैंपल के लिए चल रहा कार्य

नाहन । एएनएन (Action News Network)

केंद्र सरकार ने किसानो की आर्थिकी सुधारने हेतु मिटटी जाँच स्वास्थय कार्ड बनाने का कार्य शुरू किया है जिसके तहत किसान के खेतों की मिटटी की जाँच कृषि वैज्ञानिकों द्वारा की जाती है जाँच के बाद उन्हें मृदा स्वास्थय कार्ड दिए जाते हैं। जिसमे पोषक तत्वों की कमी। कौन से उर्वरकों की जरूरत बारे सलाह दी जाती है ताकि किसान इनके प्रयोग से अपने खेतों और कृषि को सुधार सकें।

सिरमौर जिला में धौलाकुआं में मृदा स्वास्थय परीक्षण प्रयोगशाला बनाई गयी है। जिला के किसानो की भूमि के सैंपलों की जाँच की जाती है। इसके अतिरिक्त दूरदराज के क्षेत्रों के लिए मोबाईल प्रयोगशाला वाहन भी है जिसमे घर पर जाकर मिटटी की जाँच की जाती है और स्वास्थय कार्ड भी वितरित किये जाते हैं। इस बार खरीफ सीजन के लिए जिला में 1400 मिटटी के सैंपल लिए जा रहे हैं व् साथ ही 500 सैंपल मोबाइल वैन से लिए जाने हैं।

कृषि विभाग ने इस दिशा में कार्य शुरू कर दिया है व् सैंपल लेने का काम शुरू हो गया है। उप निदेशक कृषि डॉ राजेश कौशिक ने बताया कि सरकार ने टारगेट निर्धारित किये हुए हैं और उसी के अनुसार मिटटी जाँच के सैंपल जिला के सभी विकास खण्डों से लिए जा रहे हैं। इसके साथ ही दुर्गम ग्रामीण इलाकों में मोबाईल वैन जा रही है। ताकि सभी किसानो को इस योजना से लाभ मिल सके व उनकी खेती उपयोगी बन सके।

Next Story
Share it