Top
Action India

अहमदाबाद के ​पीएम केय​र कोविड हॉस्पिटल​ में इलाज करेगी नौसेना की टीम​

अहमदाबाद के ​पीएम केय​र कोविड हॉस्पिटल​ में इलाज करेगी नौसेना की टीम​
X
  • विभिन्न अस्पतालों के लिए बड़े ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कर रहा है ​डीआरडीओ
  • छावनी बोर्ड के अस्पतालों में भी कोविड बेड बनाये गए, आईसीयू सुविधा भी मिलेगी

नई दिल्ली। एक्शन इंडिया न्यूज़

पश्चिमी नौसेना कमान के 57 सदस्यीय नौसेना चिकित्सा दल को अहमदाबाद के पीएम ​कोविड केयर अस्पताल में तैनात किया गया है​​।​ गुजरात में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों को देखते हुए अहमदाबाद में ​​विशेष ​तौर पर 'पीएम केयर कोवि​ड अस्पताल'​ बनाया गया है​​​।​​ ​इस अस्पताल के लिए नौसेना की ​पश्चिमी कमान​ ने चिकित्सा टीम मुहैया कराई है​।​​

​इसके अलावा ​देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता ​पूरी करने के लिए​ ​​​​डीआरडीओ​ अहम कदम उठा रहा है​।​​​​​

रक्षा मंत्रालय के अनुसार​ ​अहमदाबाद में तैनात ​की गई इस टीम में चार डॉक्टर, सात नर्स, 26 पैरामेडिक्स और 20 सहायक कर्मचा​री शामिल हैं।​ फिलहाल इस टीम की तैनाती दो माह के लिए की गई है लेकिन ​आवश्यक होने पर बढ़ाया ​जा सकेगा​।​

​वर्तमान समय में चल रहे कोविड संकट का सामना करने और नागरिक प्रशासन की सहायता करने के ​लिए नौसेना ​का चिकित्सा दल ​गुरुवार ​को अहमदाबाद ​के लिए रवाना किया गया​ था​। य​​ह दल कोविड संकट का सामना करने के लिए बनाए गए विशेष चिकित्सालय ​'​प्रधानमंत्री देखरेख कोविड चिकित्सालय (पीएम केयर्स कोविड हॉस्पिटल)​'​ में ​आने वाले मरीजों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराएगा​​​। ​​​​

​रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह​ के अनुसार ​देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता को पूरा करने के लिए​ ​​डीआरडीओ​ अहम कदम उठा रहा है​।​ इसी क्रम में ​​विभिन्न अस्पतालों के लिए बड़े आकार के ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कर रहा है।​ ​​​डीआरडीओ ने ​29 अप्रैल को ऐसे ​75 ​सिलिंडर दिल्ली सरकार को सौं​पे हैं।'

​ ​ये सिलेंडर 80 लीटर पानी की क्षमता के हैं और इन्हें 130 बार तक ​रिफिल किया जा सकता है। इनमें से प्रत्येक सिलेंडर में 10​ हजार लीटर ऑक्सीजन स्टोर ​की जा सकती है। समान क्षमता के 40 सिलेंडर दिल्ली के ​छतरपुर में सरदार पटेल ​कोविड केयर सेंटर के अधिकारियों को सौंपे हैं।

​रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि छावनी बोर्डों ने देश के विभिन्न हिस्सों में सिविल प्रशासन और राज्य सरकारों को मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है। वे न केवल छावनी बोर्डों के निवासियों को बल्कि उन सभी को सहायता प्रदान कर रहे हैं जिन्हें चिकित्सा की जरूरत है। वर्तमान में तीस छावनी बोर्ड 1,240 बेड के साथ 40 सामान्य अस्पताल चला रहे हैं।

इसके अलावा महाराष्ट्र के पुणे, किर्की और देवलाली में छावनी बोर्ड के अस्पतालों में 304 कोविड बेड बनाये गए हैं। महाराष्ट्र के किर्की, देवलाली, देहरुद, झांसी और अहमदनगर के कैंटोनमेंट जनरल अस्पतालों को 418 बेड के साथ कोविड देखभाल केंद्र के रूप में नामित किया गया है। देहरुद में जल्द ही एक कोविड अस्पताल शुरू होगा जबकि किरयोनी में छह बेड के साथ आईसीयू सुविधा स्थापित की जा रही है।

​रक्षा मंत्री ने बताया कि कोविड की मौजूदा स्थिति के बीच देश में ऑक्सीजन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए भारतीय वायु सेना की घरेलू और विदेशी उड़ानें जारी है। एक आईएल-76 विमान ने लखनऊ शहर में डीआरडीओ के कोविड अस्पताल की स्थापना के लिए जरूरी सामानों की आपूर्ति की है। वायुसेना ने 29 अप्रैल तक 670 मीट्रिक टन क्षमता के साथ 39 ऑक्सीजन कंटेनरों को एयरलिफ्ट करने के लिए 23 विदेशी उड़ानें भरी हैं जबकि देश के भीतर 124 उड़ानें भरकर 1,798 मीट्रिक टन क्षमता वाले 87 कंटेनरों को एयरलिफ्ट किया है।

Next Story
Share it