Top
Action India

पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई की हालत में मामूली सुधार

पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई की हालत में मामूली सुधार
X
  • अगले 24 घंटे तक स्थिति संकटजनक



गुवाहाटी । एक्शन इंडिया न्यूज़

राज्य के तीन बार के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तरुण गोगोई की हालत बेहद खराब होने के बाद उन्हें गुवाहाटी मेडिकल कालेज अस्पताल (जीएमसीएच) में फिर से भर्ती कराया गया था। रविवार को उनकी हालत में मामूली सुधार हुआ है।

जीएमसीएच के अधीक्षक डॉ अभिजीत शर्मा ने बताया है कि शनिवार की अपेक्षा गोगोई की संकटजनक स्थिति में मामूली सुधार हुआ है। उम्मीद की जा रही है कि वे जल्द स्वस्थ हो जाएंगे। उनका ऑक्सीजन लेवल 95 से 97 के आसपास है। जांच के दौरान उनके स्वास्थ्य में सुधार होता दिख रहा है। मल्टी आर्गेन डिसआर्डर होने की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री के यूरिन की मात्रा में कमी हो रही है। वर्तमान में 100 ग्राम यूरिन शरीर से निकल रहा है। डॉ शर्मा ने कहा कि गोगोई के इलाज को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए एम्स के चिकित्सकों के साथ संपर्क कर चर्चा की जा रही है।

उन्होंने कहा कि अभी भी अगले 24 घंटे तक तरुण गोगोई को पूरी तरह से संकटमुक्त नहीं कहा जा सकता है। उल्लेखनीय है कि शनिवार को नॉन इनवेंसिव वेंटिलेटर पर उनके स्वास्थ्य में गिरावट देखी गयी थी, जिसके बाद उन्हें मेकेनिकल वेंटिलेशन के जरिए उनका इलाज शुरू किया गया था। कृत्रिम तरीके से उन्हें सांस दिया जा रहा था। उन्होंने बताया कि शनिवार की रात के बाद से तरुण गोगोई के स्वास्थ्य में मामूली सुधार होता दिखा। साथ ही उनकी किडनी, हृदय, लिवर की क्रिया प्रतिक्रिया में धीरे-धीरे कम करना शुरू किया था। जिसके चलते उन्हें कृत्रिम तरीके से सांस देने की प्रक्रिया की गयी।

शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री की तबीयत अधिक खराब होने की जानकारी मिलते ही राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ हिमंत विश्वशर्मा जीएमसीएच में पहुंचकर उनका हाल जाना। साथ ही उन्नत चिकित्सा के लिए एम्स के चिकित्सकों से परामर्श लेने की व्यवस्था की।

तरुण गोगोई को कोरोना संक्रमण के बाद जीएमसीएच में भर्ती कराया गया था। लंबे समय तक इलाज के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली थी। अपने सरकारी आवास पर कुछ ही बीता पाए कि फिर से उनकी तबीयत खराब हो गयी। फिर से एक बार स्वस्थ होने के बाद वे अपने घर लौट गये। इस बीच फिर से उनकी तबीयत अचानक खराब हुई तो उन्हें जीएमसीएच में भर्ती कराया गया है। गोगोई के स्वास्थ्य की निगरानी जीएमसीएच में गठित चिकिस्कों की टीम कोरोना संक्रमण के समय से कर रही है।

Next Story
Share it