Top
Action India

राष्ट्र का प्रतीक है राम मंदिर, सनातन संस्कृति का विश्व में बजेगा डंका

राष्ट्र का प्रतीक है राम मंदिर, सनातन संस्कृति का विश्व में बजेगा डंका
X

गोरखपुर। एक्शन इंडिया न्यूज़

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के गोरक्ष प्रान्त के प्रान्त प्रचारक सुभाष कुमार ने मकर संक्रांति व स्वामी विवेकानन्द के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहाकि भारतीय जीवन दर्शन सम्पूर्ण दुनिया को अपना परिवार मानता है, सिर्फ भारत की भूमि को ही यहां के निवासी मां का स्थान देते हैं। विवेकानन्द ने अल्प आयु में ही विश्व को दिशा दिखाया और भारतीय संस्कृति के महत्व को बताया।

कहाकि उनका मानना था कि माँ की सेवा के बिना कोई महान नहीं हो सकता। स्वामी जी ने दरिद्र नारायण की सेवा करने के लिए प्रेरित किया। स्वामी जी ने भारत की गौरवशाली अतीत का परचम दुनिया में लहराया। प्रान्त प्रचारक ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द समरसता के अग्रदूत थे।

उक्त बातें प्रान्त प्रचारक ने महाराणा प्रताप इण्टर कालेज गोलघर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ महानगर इकाई द्वारा बुधवार को मकर संक्रांति उत्सव व युवा दिवस पर विशाल एकत्रीकरण में लोगों को सम्बोधित करते हुए कही। इस अवसर पर वक्ताओं ने मकर संक्रांति व स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती पर आयोजित होने वाले युवा दिवस के महत्व पर भी प्रकाश डाला।

प्रान्त प्रचारक ने मकर संक्रांति से प्रारम्भ होने वाले श्री राम जन्मभूमि निधि समर्पण अभियान की महत्ता को बताते हुए कहा कि राम मन्दिर के लिए 76 बार लड़ाई हुई और साढ़े तीन लाख लोगों ने बलिदान दिया। करीब पांच सौ वर्षों के बाद यह शुभ दिन आया है कि हिन्दू समाज श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर बनाने जा रहा है। यह कार्य राष्ट्र धर्म का साक्षात प्रतीक है। राम मंदिर का निर्माण राष्ट्र का प्रतीक है।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बनने के बाद जहां सनातन संस्कृति का विश्व में डंका बजेगा वहीं हिन्दू समाज का सम्मान भी बढ़ेगा। सभा को काली बाड़ी के महंत रविन्द्र नाथ जी महराज ने संबोधित किया।

इस अवसर पर विभाग संघचालक डा महेन्द्र अग्रवाल, सांसद रविकिशन, मेयर सीताराम जायसवाल, पूर्व मेयर अंजू चैधरी, सत्या पाण्डेय, सांसद जयप्रकाश निषाद, प्रान्त प्रचार प्रमुख उपेन्द्र प्रसाद द्विवेदी, विहिप प्रान्त प्रमुख, प्रदीप पांडेय, दुर्गेश त्रिपाठी, आत्मा सिंह, उमेश सिंह, कमलेश सिंह, पुनीत पाण्डेय, परमेश्वर जी, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डा. धर्मेन्द्र सिंह, उपाध्यक्ष डा. सत्येन्द्र सिन्हा, महामंत्री प्रदीप शुक्ल, सिद्धार्थ पाण्डेय आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का समापन संघ की प्रार्थना के साथ हुआ।


Next Story
Share it