Action India
अन्य राज्य

कोराेना से बचने बस्तर में पत्‍ते का देशी मास्क इजाद

कोराेना से बचने बस्तर में पत्‍ते का देशी मास्क इजाद
X

  • धुर नक्‍सल प्रभाव‍ित क्षेत्रों में आ रही जागरुकता

जगदलपुर। एएनएन (Action News Network)

पूरे देशभर में कोरोना वायरस का दहशत है तो वहीं छत्‍तीसगढ़ राज्‍य के धुर नक्‍सल प्रभाव‍ित बस्तर संभाग तक कोरोना वायरस नही पंहुचा है, लेकिन इसके बचाव की मुहि‍म जारी है। बस्तर के अंदरूनी ग्रामीण क्षेत्रो में साल के पत्तों का मास्क बनाकर कुछ लोग इसे पहन रहे हैं। इससे सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां भी जागरूकता की कोई कमी नहीं है।

उल्लेखनीय है कि, बस्तर के आद‍िवास‍ियों की जीवन शैली-दिनचर्या में साल के पेड़ के पत्तों का अहम स्थान है। सामाजिक-धार्मिक आयोजन साल के पेड़ के पत्तों के बिना संभव ही नही है। यह उनके प्रकृति-जंगल के साथ अटूट रिश्ता-संबध को रेखांकित करता है।

यही कारण है कि साल के पेड़ के पत्तों का मास्क बनाकर उपयोग में लाता एक युवक छायाचित्र में परिलक्षित हो रहा है। मेडिकल स्टोरों में महंगे मास्क के स्थान पर बस्तर संभाग का ग्रामीण देशी जुगाड़ से साल के पेड़ के पत्तों का मास्क बनाकर अपने को प्रकृति के साथ जोड़ते हुए करोना वायरस से बचने के लिए बस्तर का देशी मास्क का इजाद किया गया।

Next Story
Share it