Action India
अन्य राज्य

टिड्डी दल की नेचर भी कोरोना की तरह समझ से परे, हवाई छिड़काव ही है उपाय

टिड्डी दल की नेचर भी कोरोना की तरह समझ से परे, हवाई छिड़काव ही है उपाय
X

भीलवाड़ा । एएनएन (Action News Network)

जिले में दो दिन के अंतराल के बाद एक बार फिर टिड्डियों के दल का हमला हो गया है। टिड्डियों के हमले से जिले के काश्तकारों में दहशत व्याप्त हो गयी है। केंद्र व राज्य सरकार की ओर से हवाई स्पे्र अब तक नहीं किये जाने से काश्तकारों में सरकार के खिलाफ आक्रोश है। टिड्डीयों के दल की नेचर भी कृषि विभाग के अधिकारियों को समझ में नहीं आ रही है। कोरोना काल में यह टिड्डी दल भी बार बार अपनी नेचर को बदल रहा है। सामान्यता यह दल एक बार उड़ जाने के बाद दिन भर उड़ने के बाद रात को ही पड़ाव डालता है, लेकिन मालासेरी व आमेसर से यह दल रवाना होने के सात किमी की दूरी पर मोतीपुर व सोड़ार के बीच ही हवा रूकने के साथ ही रूक गया। इसे लेकर कृषि अधिकारी ज्यादा चिंतित हो रहे हैं।

अधिकारियों ने टिड्डी नियंत्रण संगठन के आला अधिकारियों को वास्तविक स्थिति से अवगत कराया है। कृषि विशेषज्ञ हंसराज चोधरी का कहना है कि हवाई स्प्रे बिगर इनका कोई इलाज संभव नहीं है। सरकार ने समय रहते ऐसा नहीं किया तो भारत की अर्थव्यवस्था के लिए यह कोरोना से भी ज्यादा घातक हो सकता है क्यों कि वर्तमान में विभागीय अधिकारी देश में ऐसे टिड्डी दलों की संख्या 18 बता रहा है।

सोमवार मध्य रात्रि व आज सुबह अलबत्ता कृषि विभाग के आला अधिकारियों ने मौके पर कीटनाशक दवा का छिड़काव किया है। परंतु इसका कोई ज्यादा प्रभाव नहीं दिखा है। भीलवाड़ा के सांसद सुभाष बहेड़िया, आसींद विधायक जब्बरसिंह सांखला व मांडल विधायक रामलाल जाट सरकार से टिड्डियों की रोकथाम के लिए हेलीकाॅप्टर से दवा का हवाई स्प्रे कराने की मांग राज्य व केद्र सरकार से कर चुके है।

काश्तकार व कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि टिड्डियों के अब एक बार भीलवाड़ा जिले का रूख करने से यह समस्या फिलहाल स्थायी होती दिख रही है जो किसानों के लिए घाटे का सौदा साबित हो रही है। आसींद क्षेत्र यो भी अकाल के लिए जाना जाता रहा है, अब टिड्डीयो के हमले से दोबारा अकाल की आशंका काश्तकारों को सताये जा रही है।

विधायक जब्बरसिंह सांखला ने बताया कि टिड्डियों के दल ने खेतों मे हमला कर दिया और कृषि विभाग एवं किसानों द्वारा पीपे, थाली, ढोल, बजा,धुआं कर टिड्डीयो को भगाने की पुरी कोशिश की है। टिड्डीयो ने खेतों में फसल को चट कर दिया। विधायक जब्बरसिंह ने आसींद एवम बदनोर उपखण्ड अधिकारी से बात कर टिड्डीयो से फसलों के बचाने की समुचित व्यवस्था शीध्र करने का अपील की।

Next Story
Share it