Top
Action India

100 दिन बाद खुले कपाट, फिर भी मंदिरों में देवी देवताओं के ‘दूर-दर्शन’ ही हुए

100 दिन बाद खुले कपाट, फिर भी मंदिरों में देवी देवताओं के ‘दूर-दर्शन’ ही हुए
X

  • घंटियों को भी न बजाए जाने हेतु ढका गया, मूर्तियों से काफी दूर दर्शनों के लिए लगाई गईं रस्सियाें की बैरीकेटिंग

नैनीताल । एएनएन (Action News Network)

आखिर 100 दिन के लंबे अंतराल के बाद बुधवार को नयना देवी मंदिर सहित विभिन्न मंदिरों के कपाट खुल गए। फिर भी श्रद्धालु माता नयना सहित विभिन्न देवी देवताओं के दूर से ही दर्शन कर पाये।

मंदिर में कोरोना की महामारी के दृष्टिगत बेहद कड़े सुरक्षा प्रबंधों के तहत मंदिर के बाहर ही दर्शनार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग करने की व्यवस्था की गई है। इसके बाद जूते उतारते ही श्रद्धालुओं को सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जा रहा है।

मंदिर के प्रवेश द्वार के पास ही स्थित हनुमान जी की विशाल मूर्ति से लेकर माता नयना एवं अन्य मंदिरों से काफी दूरी पर रस्सी बांधी गई है। मंदिर के विशाल घंटों को भी ढका गया है, ताकि दर्शनार्थी कुछ भी छू न सकें।

इसके अलावा अधिकतम 10-10 की संख्या में ही श्रद्धालुओं को एक छोटे गेट से मंदिर में प्रवेश कराया गया।मंदिर से बाहर आने के लिए भी नियमानुसार अलग गेट की व्यवस्था की गई थी। इस प्रकार सुबह सात से 11 बजे के नियत समय में अधिकतम 200 श्रद्धालुओं ने ही माता नयना एवं अन्य देवी-देवताओं के दर्शन किये। नगर के कुछ अन्य मंदिरों के भी आज से खुलने के समाचार हैं।

Next Story
Share it