Action India
अन्य राज्य

यूपी के कानपुर में 24 घंटे में कोरोना का नहीं आया एक भी केस, हॉट स्पॉट की संख्या घटकर हुई बीस

यूपी के कानपुर में 24 घंटे में कोरोना का नहीं आया एक भी केस, हॉट स्पॉट की संख्या घटकर हुई बीस
X

  • मंडलायुक्त ने बैठक में लिया निर्णय, सैंपलिंग के काम में आएगी तेजी

  • सूरत, इंदौर और अहमदाबाद से आने वाले श्रमिकों में बरती जाये सतर्कता

कानपुर । एएनएन (Action News Network)

23 मार्च से कानपुर नगर में शुरु हुआ कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा था। जिससे स्वास्थ्य विभाग से लेकर प्रशासन भी समझ नहीं पा रहा था कि आखिरकार कैसे कोरोना के संक्रमण की चेन तोड़ी जाये। इसी बीच एक राहत भरी खबर आयी कि पिछले 24 घंटे में जनपद में जितने भी सैंपलों की जांच रिपोर्ट आयी तो सभी निगेटिव पाये गये और प्रशासन भी राहत की सांस ले सका होगा। कोरोना के थमने को देखते हुए मंडलायुक्त ने हॉट स्पॉट इलाकों में कमी कर दी और अब 20 ही हॉट स्पॉट इलाके बचे हैं। जिन हॉट स्पॉट इलाकों को कम किया गया है तो वहां पर लगे पुलिस कर्मी और स्वास्थ्य विभाग की टीम को दूसरी जगह पर शिफ्ट किया जाएगा और यहां के लोग अब घरों से निकल सकेगें।

उत्तर प्रदेश की औद्योगिक राजधानी कानपुर नगर में पहला कोरोना पॉजिटिव का केस 23 मार्च को आया था। इसके बाद धीरे-धीरे कोरोना का ऐसा कहर ढाया कि प्रशासन से लेकर शासन तक की नींद उड़ गयी। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए शासन ने नोडल अधिकारी को तैनात किया और इसके साथ एक और नोडल अधिकारी को लगाया गया जो मंडलायुक्त के अधीन काम कर रहा है। दोनों नोडल अधिकारी लगातार यह प्रयास कर रहे हैं कि किस तरह कोरोना के संक्रमण की चेन तोड़ी जाये और जमीनी निरीक्षण कर अब तक की गयी व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। इसके साथ ही सैंपलिंग और थर्मल स्क्रीनिंग पर जोर दिया गया और युद्ध स्तर पर जांच शुरु कर दी गयी। यही नहीं लॉकडाउन और शारीरिक दूरी का भी सख्ती से पालन कराया गया।

इसी का परिणाम रहा है कि काफी दिनों बाद पिछले 24 घंटे में कानपुर नगर में कोरोना का बम नहीं फूटा और शासन से लेकर प्रशासन भी राहत की सांस ले सका। कोरोना को लेकर मंडलायुक्त डा. सुधीर एम बोबेडे ने आलाधिकारियों के साथ बैठक की। कोविद-19 की बैठक में डीआईजी, डीएम और डब्ल्यूएचओ के विचार विमर्श के पश्चात यह निर्णय हुआ कि जनपद में हॉट स्पॉट इलाकों को घटाया जाये। बताया गया कि अभी 34 हॉट स्पॉट थे, जो कि घट कर 20 रह गये।

नोडल अधिकारी अनिल गर्ग ने निर्देशित किया कि इंदौर, सूरत एवं अहमदाबाद से आने वाले श्रमिको की जांच में अत्यंत सतर्कता बरती जाय। इसके साथ ही क्वारंटाइन में भी सजगता की जरूरत होगी। इन तीनों स्थानों से आये श्रमिकों का लगातार फॉलो अप जरूरी होगा। जिलाधिकारी डा. ब्रह्मदेव तिवारी ने बताया कि जिन इलाकों को हॉट स्पॉट श्रेणी से हटाया गया अब उन इलाकों में रहने वालां क़ो घरां से निकलने की आजादी मिल जाएगी। हॉट स्पॉट इलाको मे तैनात पुलिस और पीएसी के अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीम को वहां से हटा कर दूसरी जगह तैनात किया जाएगा

यह हैं जनपद के हॉट स्पॉट इलाके
जिलाधिकारी ने बताया कि 20 हॉट स्पॉट इलाके अभी भी बचे हुए हैं और उनमें भी कुछ एपीसेंटर बनाये गये हैं। जो हॉट स्पॉट इलाके व एपीसेंटर हैं वह इस प्रकार हैं। कुलीबाजार/अनवरगंज- हाजी ईनायत मस्जिद, शेख लल्लन मस्जिद, हाता वाली मस्जिद, छतायीराम का अखाड़ा, चमनगंज- प्रेमनगर, बजरिया- शौकत अली पार्क, मुन्नापुरवा, कर्नलगंज- हुमायूं मस्जिद, तिकोनिया पार्क, बेगमपुरवा/बाबूपुरवा- लाल कुंआ, एनएलसी चौकी, किदवई नगर- चन्द्रगंगा अपार्टमेंट, मछरिया/नौबस्ता- खैर मस्जिद, मदरसा हिदायत उल्लाल, ग्वालटोली- मछली वाला हाता, कल्याणपुर- रोशन नगर, शिव नगर, बेकनगंज- तलाक महल, कोतवाली- पुलिस लाइन, कलक्टरगंज- कृष्णा पराठा से माधोगढ़ घी वाली गली तक, मीरपुर/रेल बाजार- डा. आफताब का घर 72 मीरपुर कैंट, शिवकटरा चकेरी- हाउसिंग सोसाइटी, अशर्फाबाद चकेरी- अशर्फाबाद चकेरी, चकेरी- जाजमऊ चौकी के सामने, मेडिकल कालेज/ स्वरुप नगर- व्यॉयज हॉस्टल नम्बर तीन जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज, जूही- कब्रिस्तान गली परमपुरवा, महाराजपुर- करीबी गांव हैं।

आस-पास के जनपदों की रिपोर्ट भी आयी निगेटिव
गणेश शंकर मेडिकल कॉलेज की कोविड-19 लैब से 24 घंटे के अंदर जो भी जांच रिपोर्ट आयी है वह सभी निगेटिव रही। चाहे कानपुर नगर के सैंपल रहे हो या कानपुर देहात, या हमीरपुर, बांदा आदि के रहे हों। एक साथ सभी निगेटिव रिपोर्ट आने से स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है।

Next Story
Share it