Action India

खेतों में प्याज की फसल पककर तैयार, नहीं मिल रहे खरीद वाले

खेतों में प्याज की फसल पककर तैयार, नहीं मिल रहे खरीद वाले
X

धार । एएनएन (Action News Network)

जिले मे कोरोना संक्रमण के चलते जारी लॉकडाउन में क्षेत्र के किसानों को भी आर्थिक रूप से नुकसान उठाना पड़ रहा है। परिवहन बंद होने के कारण कोई खरीदने वाला नहीं मिल रहा है। गत वर्ष प्याज के दामों में उछाल को देखते हुए इस वर्ष जिले के किसानों ने हजारों हैक्टेयर में प्याज की फसल उगाई है। खेतों में फसल पक कर तैयार है। वही प्याज का बंपर उत्पादन होने से किसान उत्साहित हैं। लेकिन लॉकडाउन के कारण व्यापार व परिवहन बंद होने के कारण उन्हें भाव न मिलने की चिंताए साफ दिखाई दे रही है।

यही स्थिति जिले में अन्य फसलों की है, जहां फसलें नष्ट होने की कगार पर पहुंच रही है। प्याज की खेती करने वाले किसानों का कहना है कि फसल पक चुकी है। लेकिन लाकडाउन के कारण किसान खेत से फसल नहीं निकाल रहे। जिले के प्याज उत्पादन किसानों को लॉकडाउन खुलने का बेफकरी से इंतजार है। इससे वह बाजार में अपनी उपज बेच सके। प्याज की फसल बिकने के लिए तैयार है, लेकिन जिले प्रदेश सभी जगह की मंडी बंद होने से प्याज खरीदी की व्यवस्था न होने के कारण किसान बाजार खुलने व नीलामी शुरू होने की राह देख रहे हैं।

दरअसल मंडियों में प्याज खरीदी की उचित व्यवस्था न होने के कारण 50 फीसदी किसान खेत से व्यापारी को अपनी उपज बेच देते हैं। लेकिन वह भी प्याज खरीदने नहीं आ रहे है। प्याज उत्पादक किसान राजू यादव का कहना कि इस साल किसानों के प्याज की अधिक खेती की है। उत्पादन भी अच्छा हुआ है। लेकिन कोरोना वायरस के कारण बाजार में छाई मंदी से वह चिंतित है। उनका कहना है कि मंडियों में प्याज की नीलामी शुरु हो। मंडी प्रशासन मंडी में प्याज खरीदी के इंतजाम करे और जिले व प्रदेश में सरकार मंडियों को चालू किया जाए।

किसानों ने मांग की है कि मंडी प्रशासन नीलामी की व्यवस्था करे और प्याज खरीदी चालू करें। इससे किसान मंडी आएंगे और उन्हें उपज का सही दाम भी मिलेगा। इससे उनको नुकसानी का सामना नहीं करना पड़े व लागत निकालकर कुछ मुनाफा कमा सके।

तलाई बिल्लोदा के किसान गोपाल मंडलोई की चिंता यह है कि फसल कब बेचेंगे। उनका कहना है कि मंडी खुलने के आसार भी नहीं दिख रहे है। मजदूरों के पैसे देना है और मंडी बंद है, क्या करें किसान कुछ समझ नहीं आ रहा है। रतनलाल वसुनिया, किसान, अनारद मंडी व परिवहन बंद खेतों से निकली प्याज की रखने की व्यवस्था नहीं लॉकडाउन देश सभी जगह बाजार बंद है। वहीं मौसम में बदलाव और बूंदाबांदी से किसान को प्याज के साथ गेहूं की फसल मैं भी नुकसान की चिंता सताने लगी है।

Next Story
Share it