Action India
अंतर्राष्ट्रीय

पड़ोसी देश में भी प्याज ने मचाया कोहराम, आसमान छूने लगे प्याज के दाम

पड़ोसी देश में भी प्याज ने मचाया कोहराम, आसमान छूने लगे प्याज के दाम
X

बांग्ला-देश, एजेंसी | भारत में कुछ समय से प्याज के दामों ने कोहराम

मचा रखा था, जिसके चलते सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी। लेकिन अब

भारत पडोसी बांग्ला देश में भी प्याज के दाम आसमान छूने लगे हैं। वहाँ के वाणिज्य

मंत्री टीपू मुंशी का कहना है कि हम अभी छह लाख टन प्याज की कमी से गुजर रहे हैं, जिससे

यहाँ के नागरिकों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि

देश का 80 प्रतिशत प्याज भारत से आता है, और भारत के निर्यात पर रोक लगाने से देश

में प्याज की कीमतें बढ़ गयी हैं। वहाँ की जनता ने भी इसके ऊपर सरकार से सवाल उठाने

शुरू कर दिए हैं।

आपको बता दें कि बांग्ला देश की सरकार में अब रेडक्लिफ रेखा को विदा

करने का फैसला ले लिया है। उनका मानना है कि इस रेखा के कारण उनके पड़ोसी देशों में

अवरोध उत्पन्न हुए हैं। पीएम शेख हसीना के आर्थिक सलाहकार रहमान ने दोनों देशों के

बीच हुई हितधारक बैठक में कहा कि अलगाव कोई समाधान नहीं है। आर्थिक क्षेत्र में

काम के लिए दुनियाभर में मजबूत साझेदारी की आवश्यकता है। आपको बता दें कि बता दें

कि रैडक्लिफ रेखा ब्रिटिश भारत के समय के पंजाब और बंगाल के भारतीय तथा पाकिस्तानी

हिस्सों के बीच सीमा निर्धारण की रेखा है। इसके रचनाकार सर साइरिल रैडक्लिफ के नाम

पर इसका नाम रखा गया था। रहमान ने कहा कि इस रेखा से देश का भविष्य तय हो ये हमें

मंजूर नहीं है। साथ ही उनका कहना है कि आवश्यकता पड़ने पर संभवता के अनुसार दोनों

देशों को एक साथ मिलकर कार्य करना चाहिये। इतना कहकर रहमान ने भारत से प्याज के

निर्यात से प्रतिबन्ध हटाने की गुहार लगाईं।

Next Story
Share it