Action India
झारखंड

आगामी झारखंड विधानसभा चुनाव में विपक्ष का नाम नहीं होगा : भाजपा

आगामी झारखंड विधानसभा चुनाव में विपक्ष का नाम नहीं होगा : भाजपा
X

रांची। एआईएन

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि आगामी झारखंड विधानसभा चुनाव में विपक्ष का नाम लेने वाला कोई नहीं होगा। राष्ट्रवाद और विकास पार्टी की प्राथमिकता में है। शाहदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में राज्य में अभूतपूर्व विकास हुआ है। शाहदेव सोमवार को प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछले पौने पांच वर्षों में विकास राज्य के हर जिले में पहुंचा है।

उन्होंने कहा कि पौने पांच साल के दौरान किए गए विकास कार्यों का लेखा-जोखा लेकर मुख्यमंत्री सीधे जनता के बीच जा रहे हैं। उस क्षेत्र में और राज्य में क्या विकास कार्य हुए हैं। इसकी सीधी जानकारी भी लोगों को दे रहे हैं। वे चाहते हैं कि सरकार और जनता के बीच सीधा संपर्क हो। इस यात्रा का यह लाभ हुआ है कि शासन पर लोगों का विश्वास बढ़ा है और लोग उत्साह के साथ इसमें शामिल हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने पिछले पांच वर्षों में रिकॉर्ड 526 बार झारखंड के विभिन्न जिलों का दौरा किया और जन चौपाल, सभाओं और जनसंपर्क के जरिए लोगों की समस्या और योजनाओं के हाल-चाल को जाना। एक ओर विपक्ष की सरकारें थीं जिसमें मुख्यमंत्री सरकारी खर्चे पर हफ्तों छुट्टियां मनाने गोवा जाया करते थे। दूसरी ओर रघुवर दास ने अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल में बिना अवकाश लिए जनता की निरंतर सेवा की है। जहां विपक्षी सरकार के मुख्यमंत्री एयरकंडिशन कमरों में बैठकर योजनाओं का हाल-चाल जानते थे। वहीं मुख्यमंत्री ने जमीन पर जाकर जमीनी हकीकत देखकर मॉनिटरिंग की। साढ़े चार वर्ष पूर्व योजना बनाओ अभियान से जन सहयोग की शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने आम लोगों को योजना का हिस्सा बनाया। उन्हें अपने क्षेत्र के विकास का खाका खींचने का अवसर दिया। चाहे ग्राम विकास समिति हो या 14वें वित्त आयोग की राशि से गांव में स्ट्रीट लाइट, पानी की टंकी लगने में जन सहयोग लिया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसा कभी नहीं हुआ है कि कोई मुख्यमंत्री पिछले पांच वर्षों में 162 बार संथाल परगना बार गया हो। मुख्यमंत्री का पौने पांच साल में संथाल परगना का 162 बार दौरा हुआ। संथाल ने झारखंड को तीन मुख्यमंत्री दिए हैं, लेकिन रघुवर दास ने मिशन मोड में संथाल परगना के विकास का बीड़ा उठाया है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में सीएम ने दुमका का 68, पाकुड़ 23, गोड्डा 18, साहेबगंज 15, जामताड़ा 11, देवघर 27 बार दौरा कर चुके हैं।

प्रतुल ने कहा की राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा जामताड़ा से शुरू की गयी जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री को राज्य की जनता का अभूतपूर्व समर्थन मिला। दौरा के दौरान संथाल परगना (6 दिन) में 581 किमी यात्रा की। कोलहन (6 दिन) में 486 किमी यात्रा, उत्तरी छोटानागपुर (6 दिन) 454 किमी यात्रा और लातेहार मानिका (1 दिन) लगभग 50 किमी यात्रा की। प्रतुल ने कहा कि 19 दिन की कुल यात्रा में 57 छोटी सभा और 38 बड़ी सभा हुई और हर दिन औसतन दो लाख लोगों से सीधा संपर्क हुआ। 19 दिन में लगभग 38 लाख लोगों से संपर्क साधा गया। उन्होंने कहा कि जन आशीर्वाद यात्रा का अंतिम चरण छठ के बाद पलामू और दक्षिण छोटानागपुर के बचे हुए हिस्सों में शुरू होगा।

Next Story
Share it