Action India
आंध्र प्रदेश

कोरोना काल में मनवता की सेवा को सबसे बडा धर्म मानती है एएनएम मीना

कोरोना काल में मनवता की सेवा को सबसे बडा धर्म मानती है एएनएम मीना
X

सीहोर। एक्शन इंडिया न्यूज़

मानवता की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है। मुझे ईश्वर ने यह सौभाग्य दिया है कि कोरोना से पीडि़त लोगों की सेवा कर सकूं। मुझे लोगों की सेवा का जो अवसर मिला है मैं इस अवसर का एक- एक पल सेवा में लगाउंगी।

यह कहना है जिला चिकित्सलाय स्थित कोविड-19 टीकाकरण का कार्य कर रही एएनएम मीना सोनी का। उन्होंने अभी तक 10 हजार से अधिक लोगों को कोविड का टीका लगा चुकीं हैं।

मीना सोनी विगत एक वर्ष के अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि जब कोविड पॉजिटीव रिर्पोट आती है, तो वह व्यक्ति और परिवारिजन नर्वस हो जाते हैं। पीडि़त को इलाज के साथ ही परिजनों संबल देना पड़ता है कि सब ठीक होगाए आप चिन्ता न करें।

हम है इलाज और उसकी सेवा के लिये। जब पिछले साल कोरोना संक्रमण फलना शुरू हुआ था तब मैने तब मैंने घर घर जाकर सर्वे किया था। सर्वे के दौरान कई लोग ऐसे भी मिले जिन्हें विश्वास दिलाना कठिन होता था उनकी स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए कर रहे हैं।

मैंने कन्टेन्मेंट एरिये में जांच और दवा वितरित की है। अब कोरोना के लेकर जागरूकता आयी है। लोग स्वयं अपना सैंपल देने आ रहे हैं। पिछले एक साल में कई लोग स्वस्थ्य होकर अस्पताल से जाते समय वे और उनके परिजन ढेरों दुआएं देते हैं। उनकी दुआएं मेरे लिए अनमोल है।

मीना सोनी बताया कि अभी तक 10 हजार से अधिक लोगों को कोविड का टीका लगा चुंकी हूं। उन्होंने बताया कि आरंभ के कुछ दिनों में जो लोग टीका लगवाने आ रहे थे उनके मन में थोड़ा संसय था लेकिन जब टीके के महत्व के बारे बताया गया तो उनकी चेहरे में चमक आ जाती थी।

अब तो कोविड टीकाकरण के लिये उत्सव जैसा महौल है। सभी टीका लगाने के लिये आतुर हैं। लोगों का उत्साह और स्वाथ्य अमले के मनोबल को देखकर यह निश्चित है कि कोरोना पर जल्द विजय लेंगे।

Next Story
Share it