Top
Action India

जेपी नड्डा ने कांग्रेस को बताया साम्प्रदायिक पार्टी

जेपी नड्डा ने कांग्रेस को बताया साम्प्रदायिक पार्टी
X
  • पाटाचारकुची में रंजीत दास के समर्थन में की चुनावी जनसभा

नलबारी (असम)। एक्शन इंडिया न्यूज़

असम विधानसभा के तीसरे व अंतिम चरण के मतदान के मद्देनजर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व पाटाचारकुची के उम्मीदवार रंजीत कुमार दास के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित किया।

उन्होंने स्थानीय महापुरुषों, शक्ति पीठों की चर्चा करते हुए नमन किया। उन्होंने कहा कि यह चुनाव भाजपा, यूपीपीएल, अगप, कांग्रेस, आईयूडीएफ व वामपंथियों के बीच हो रहा है। यह चुनाव इस लिहाज से भी अहम है कि कांग्रेस सेवा के लिए नहीं, सत्ता के लिए चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस वैचारिक पृष्ठिभूमि पर मानसिक दिवालिएपन का शिकार है। ये अवसरवादी राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी साम्प्रदायिक पार्टी है। केरल में मुस्लिम लीग के साथ, बंगाल में फुरफुरा शरीफ के साथ व असम में बदरुद्दीन के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है।

उन्होंने कहा कि आज कोई मंदिर जा रहा है, कोई चंडी पाठ कर रहा है। कुछ लोग टीका लगाते, जनेऊ पहनते हैं। आज से 50 वर्ष पहले यह स्थिति नहीं थी लेकिन अब लोग मंदिरों की दौड़ लगा रहे हैं। हमें सामप्रदायिक कहते हैं लेकिन असल में कांग्रेस सामप्रदायिक है। इसी कारण मुस्लिम लीग के साथ कांग्रेस समझौता करती है। असम के गमछा को फेंकने वाले बदरुद्दीन अजमल से कांग्रेस हाथ मिलाती है। राहुल गांधी कहते हैं कि असम की पहचान बदरुद्दीन अजमल हैं। मैं कहता हूं कि असम की पहचान श्रीमंत शंकरदेव, गोपीनाथ बरदलै जैसे लोग हैं, अजमल कभी भी असम की पहचान नहीं हो सकते।

जेपी नड्डा ने कहा कि चुनाव के दौरान कुछ लोग राजनीतिक यात्रा पर आते हैं। उन्होंने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। साथ ही राहुल गांधी के ताइवान व श्रीलंका के चाय बागान के फोटो के साथ ट्वीट करने को लेकर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि असम का उन्हें सिर्फ वोट चाहिए, असम के चाय बागान की उपेक्षा करते हैं। उन्होंने चाय बागान को लेकर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पर भी जमकर निशाना साधा।

असम सरकार और केंद्र सरकार की ओर से चाय बागान के लोगों के लिए शुरू की गयी योजनाओं का बखान करते हुए नड्डा ने मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, नेडा के संयोजक डॉ. हिमंत विश्वशर्मा की जमकर तारिफ की। भाजपा के चुनावी संकल्प पत्र का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि 10 संकल्पों में से एक असम की बाढ़ का स्थायी समाधान किया जाएगा। अरुणोदय योजना के तहत 850 के बदले अब 03 हजार रुपये अगली सरकार में दिए जायेंगे। ढ़ाई लाख रुपये की आर्थिक सहायता से नामघरों को उन्नत बनाया जाएगा। सत्रों (मठों) के विकास के लिए भी आर्थिक अनुदान दिया जाएगा। बच्चियों की शिक्षा मुफ्त व आठवीं के बाद उन्हें साइकिल दी जाएगी। डी लिमिटेशन के साथ ही रोजगार व स्व रोजगार, भूमि का पट्टा देने की बात कही।

उन्होंने कहा कि असम को आत्मनिर्भर बनाएंगे, इसके लिए पोल्ट्री, फिसरी समेत सभी क्षेत्रों में काम किया जाएगा। राज्य की संस्कृति को मजबूत बनाने के लिए भी उल्लेखनीय कदम उठाये जएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने ही गोपीनाथ बरदलै और डॉ. भूपेन हजारिका को भारत रत्न दिया है। कांग्रेस ने कभी कुछ नहीं किया। सुरक्षा के मद्देनजर बोड़ो समझौता कर राज्य में शांति स्थापित किया गया। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह के आशीर्वाद से यह संभव हुआ। केंद्र की भाजपा सरकार और कांग्रेस की सरकार के दौरान आर्थिक अनुदान का तुलनात्मक ब्योरा भी पेश किया। राज्य में पुल, सड़क, स्वास्थ्य, बिजली, शिक्षा, रेल आदि के विकास कार्यों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस विकास का लाभ असम के साथ ही पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों को भी मिला है। बांस व बेंत के विकास के लिए किये गये कार्यों का उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि पूरे देश के साथ ही असम में भी शौचालय व घर का बड़ी संख्या में निर्माण हुआ है।

इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व उम्मीदवार रंजीत कुमार दास, असम सरकार के मंत्री नव दलै, गुवाहाटी की सांसद क्वीन ओझा, असम गण परिषद के अध्यक्ष व असम सरकार के मंत्री अतुल बोरा, असम गण परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष व मंत्री केशव महंत समेत अन्य वरिष्ठ नेतागण मौजूद थे। जेपी नड्डा पाटाचारकुची के बाद बोको और गुवाहाटी में भी चुनावी जनसभाओं में हिस्सा लेंगे।


Next Story
Share it