Top
Action India

आने वाले समय में कश्मीर जैसे हो सकते असम के हालात- गिरिराज सिंह

आने वाले समय में कश्मीर जैसे हो सकते असम के हालात- गिरिराज सिंह
X

गुवाहाटी। एक्शन इंडिया न्यूज़

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल चौधरी के फेसबुक के माध्यम से आयोजित ऑन लाइन बैठक में देशभर के 400 जिलों से जुड़े संगठन के हजारों कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा, देश में बेरोजगारी, गरीबी, भुखमरी और कुपोषण का मुख्य कारण बेतहाशा बढती जनसंख्या है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री सिंह ने असम तथा उतर पूर्व भारत में भयावह रूप से हो रहे जनसंख्या विस्फोट को लेकर कहा कि आज असम में जिस प्रकार से एक विशेष समुदाय द्वारा जनसंख्या वृद्धि को बढ़ावा दिया जा रहा है, यह चिंता का विषय है। अगर हालात ऐसे ही रहे तो आने वाले दिनों में असम के हालात कश्मीर से भी बदतर हो जाएंगे।

उन्होंने जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल चौधरी, फाउंडेशन की महिला शाखा की संयोजक ममता सहगल, फाउंडेशन के उतर पूर्व भारत के संपर्क प्रमुख मनोज सिंह सहित अन्य देश भर के कार्यकर्ताओ की उपस्थिति में केंद्रीय मंत्री सिंह ने सुझाया कि जनसंख्या असंतुलन की इस समस्या के समाधान के लिए देश के सभी नागरिकों के लिए जाति, धर्म, क्षेत्र व भाषा से ऊपर उठकर समान रूप से जनसंख्या कानून लागू होना अति आवश्यक है।

ऑन लाइन बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के सभी कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन किया। विशेष कर असम में फाउंडेशन उत्तर पूर्व एवं असम द्वारा समय-समय पर इस भयावह समस्या के समाधान के दिशा में आयोजित किये जा रहे कार्यक्रमों एवं आंदोलन की उन्होंने प्रशंसा की। साथ ही कहा कि इन कार्यक्रमों के द्वारा जनमत बनाने की दिशा में मजबूती मिली है।

फाउंडेशन द्वारा आयोजित किये जा रहे कार्यक्रमों की आंचलिक एव राष्ट्रीय संवाद माध्यम में चर्चा की बात का उल्लेख करते हुए उन्होंने मीडिया कर्मियों का भी आभार व्यक्त किया। इस कार्यक्रम के आरंभ में फाउंडेशन उत्तर पूर्व के संपर्क प्रमुख मनोज सिंह ने असम की सभ्यता- संस्कृति का प्रतिक फुलाम गमछा से मंत्री गिरिराज सिंह का अभिनंदन किया।

मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में फाउंडेशन उत्तर पूर्व भारत के अध्यक्ष शैलेन पांडे ने मंत्री सिंह का विशेष रूप से धन्यवाद देते हुए कहा क़ि उन्होंने हमेशा उत्तर पूर्व भारत विशेषकर असम की जाति, माटी भेटी की सुरक्षा का ख्याल रखा है। वे भविष्य में भी असम की सभ्यता-संस्कृति की सुरक्षा के प्रति सजग रहते हुए इसको प्रचारित करने का आह्वान किया। इसके साथ ही फाउंडेशन असम प्रदेश अध्यक्ष शिव प्रसाद शर्मा और फाउंडेशन के असम महिला शाखा की अध्यक्ष रूबी सिंह ने भी मंत्री सिंह का आभार व्यक्त किया।

Next Story
Share it