Top
Action India

धमतरी - कोरोना उपचार प्रोटोकाल से हटाई गई तीन दवाईयां

धमतरी - कोरोना उपचार प्रोटोकाल से हटाई गई तीन दवाईयां
X

धमतरी । एक्शन इंडिया न्यूज़

कोरोना उपचार प्रोटोकाल से अब तीन दवाईयां हटाने शासन का निर्देश है। अब लक्षण के आधार पर ही संक्रमितों को दवाईयां दी जाएगी। यह तीन दवाईयां देना जरूरी नहीं है। स्वास्थ्य विभाग ने संबंधित डाक्टरों व स्टाफ को शासन के इस निर्देश से अवगत करा दिया गया है। यह तीनों दवाईयां सामान्य है, इसका उपयोग अन्य परेशानियों के लिए भी किया जाता है।

इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने कोरोना उपचार प्रोटोकाल से तीन दवाईयों को हटाने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया है। इस आदेश के बाद धमतरी जिला स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना उपचार प्रोटोकाल से इन दवाईयों को हटा दिया है। हटाए गई दवाईयों में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, आइवरमेक्टिन और जिंक की दवाईयां शामिल हैं। ये तीनों दवाईयां सामान्य दवाईयां है, जो अन्य शारीरिक तकलीफों के लिए उपयोग में लाई जाती है।

सीएमएचओ डा डीके तुर्रे ने बताया कि शासन से आदेश मिलने के बाद कोरोना उपचार प्रोटोकाल से इन दवाईयों को हटा दिया गया है। अब इन दवाईयों को सभी कोरोना मरीजों को नहीं दिया जा रहा है। कोरोना रोकथाम के लिए दी जाने वाली दवाईयों में से संक्रमितों के शरीर में दिखने वाले लक्षण के आधार पर ही दवाईयां डाक्टर दे रहे हैं। शासन के निर्देशों से डाक्टरों को अवगत करा दिया गया है।

जल्द ही मितानिनों को भी इससे अवगत कराया जाएगा। कोरोना मरीजों के उपचार के लिए ये तीनों दवाईयां मरीजों को दिया जाना अनिवार्य नहीं है, नहीं देने पर भी कुछ नहीं होगा। ये सभी सामान्य दवाईयां है, जिन्हें अन्य मरीजों को भी दिया जाता है। छोटे बच्चों व बड़ों को कृमि के लिए आइवरमेक्टिन खिलाया जाता है। बच्चों को दस्त होने पर जिंक की दवाईयां दी जाती है। वहीं हाइड्रोक्सीक्लोक्वीन एंटी मलेरिया दवाईयां है।

धमतरी जिले में कोरोना संक्रमण अब सिर्फ दो प्रतिशत रह गया है। 18 जून को जिले में 16 कोरोना पाजिटिव मिले हैं, जिसमें गुजरा में छह, कुरूद में एक, मगरलोड में दो, नगरी में चार और धमतरी शहर में तीन शामिल है। एक्टिव मरीजों की संख्या 231 है। वहीं कोरोना से मौत एक भी नहीं है। जिले में कोरोना से अब तक 552 लोगों की मौत हो चुकी है। 26587 लोग अब तक पाजिटिव हो चुके हैं।


Next Story
Share it