Action India

जिला अस्पताल उधमपुर में कोरोना एसओपी का पालन करने के दावे पूरी तरह से खोखले

जिला अस्पताल उधमपुर में कोरोना एसओपी का पालन करने के दावे पूरी तरह से खोखले
X

उधमपुर। एक्शन इंडिया न्यूज़

कोरोना महामारी ने अभी कितनों की ही जान लील है लेकिन अभी भी इसको लेकर पूरी तरह से ना ही स्वास्थ्य विभाग जागा है और ना ही जिला प्रशासन। सरकार द्वारा हर दिन कोरोना को लेकर जागरूकता फैलाई जा रही है कि अभी ढिलाई नहीं बरतनी है लेकिन जिला प्रशासन की तरफ जरूर कुछ कदम उठाये जा रहे हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी केवल अपने कार्यालयों में ही बैठकर कोरोना महामारी के प्रति लोगों को जागरूक करते हैं जबकि उनकी ही नाक के नीचे जिला अस्पताल में कोरोना महामारी को लेकर जारी एसओपी की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। यह और कोई नहीं बल्कि उनके कर्मचारियों द्वारा ही ऐसा किया जा रहा है। इसको लेकर जिला अस्पताल प्रशासन के प्रति लोगाें में रोष भी है।

जिला अस्पताल के बच्चों वाले वार्ड में मरीजों को इस प्रकार रखा गया है जैसे की भेड़-बकरियां हों। एक ही बैड पर दो से तीन मरीजों को रखा गया है। अगर इनमें से किसी एक को भी कोरोना महामारी हुई तो सब उसकी चपेट में आ सकते हैं। इसको लेकर वहां पर आए लोगों का कहना था कि जिला अस्पताल प्रशासन दावे तो बड़े-बडे़ करता है कि जिला अस्पताल में हर प्रकार की सुविधा है लेकिन बच्चों वाले वार्ड की स्थिति को देखकर तो ऐसा नहीं लगता है कि जिला अस्पताल में कोई सुधार आया है।

उनका कहना था कि अभी तो दूसरी लहर पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुई है तथा तीसरी लहर भी दस्तक देने लगी है लेकिन अस्पताल प्रशासन अभी भी इसको लेकर कोई भी एहतियात नहीं बरत रहा है। उनका कहना था कि ऐसी सुविधाओं का लोगों को क्या लाभ यहां पर मरीजों के लिए ठीक से बैड की व्यवस्था न हो।

मरीजाें को देखने आए लोगों ने जिलाधीश से आग्रह किया है कि वह जिला अस्पताल में खुद बिना किसी को बताए दौरा करें तथा वार्डों की स्थिति को देखें ताकि उन्हें भी पता चल सके कि जिला अस्पताल में मरीजों को क्या सुविधाएं मिल रही हैं तथा कितना कोरोना एसओपी का पालन किया जा रहा है।

Next Story
Share it