Action India

गैस की कीमतों में बढ़ौतरी किए जाने को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने दिया धरना प्रदर्शन

गैस की कीमतों में बढ़ौतरी किए जाने को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने दिया धरना प्रदर्शन
X

उधमपुर एक्शन इंडिया न्यूज़

दूसरी बार रसोई गैस की कीमतों में 25 रूपए की बढ़ौतरी और कमर्शियल गैस सिलेंडर में 75 रूपए की बढ़ौतरी के खिलाफ वीरवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला विकास आयुक्त कार्यालय के बाहर खाली सिलेंडर रखकर धरना दिया और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इस प्रदर्शन का नेतृत्व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुमित मंगोत्रा ने किया। इस मौके पर उनके साथ कांग्रेस के दिग्गज नेता बृजमोहन शर्मा, विजय मन्हास और संजीव दूवे मौजूद थे।

वहीं अपने संबोधन में मगोत्रा ने कहा कि 10 दिन पहले घरेलू रसोई गैस के दामों में 25 रूपए बढ़ाए और आज एक बार फिर से 25 रूपए रसोई गैस के दामों में बढ़ौतरी कर सरकार ने यह साबित कर दिया कि केंद्र सरकार तानाशाही और गरीब विरोधी सरकार है।मगोत्रा ने कहा कि मार्च 2014 तक जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी, रसोई गैस सिलेंडर का दाम 410 रूपए था लेकिन पिछले 7 सालों में रसोई गैस के दामों में 116 प्रतिशत बढ़ौतरी की गई। पैट्रोल, डीजल व रसोई गैस पर टैक्स लगाकर 23 लाख करोड़ सरकार ने इकट्ठा किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस 23 लाख करोड़ का क्या किया? एक तरफ पिछले 2 सालों से कोविड महामारी के चलते जनता त्रस्त है।

आम आदमी व छोटा व्यापारी बुरी तरह से टूट चुका है लेकिन इस बेरहम सरकार द्वारा इसके बावजूद भी लगातार महंगाई कर लोगों को मारने का काम किया जा रहा है। मगोत्रा का कहना था कि 23 लाख करोड का हिसाब सार्वजनिक करके सरकार जनता के सामने लाएं क्योंकि कोविड-19 के चलते सरकार ने गरीब लोगों को बिजली, पानी के किराए की बात हो या फिर इस दौरान जिन लोगों के व्यापार खत्म हो गए, जिनकी रोजी-रोटी खत्म हो गई। उनके लिए सरकार ने कोई भी पॉलिसी नहीं बनाई उन लोगों के लिए कोई भी राहत पैकेज नहीं दिया। यहां से साबित होता है कि लोगों से टैक्स के जरिए लूटा हुआ पैसा यह सरकार अपने चुनावों में लगाती है।

मगोत्रा का कहना था कि आज के इस प्रदर्शन में सैकड़ों की तादाद में लोग हमारे साथ शामिल होने जा रहे थे लेकिन जिला प्रशासन द्वारा एक आदेश जारी किया गया कि 25 लोगों से ज्यादा इकट्ठे नहीं हो सकते। इसलिए हमने 25 लोगों के साथ धरना दिया लेकिन केंद्र सरकार अपना यही तानाशाही रवैया रखती है तो आने वाले दिनों में हम सरकार व प्रशासन के आदेशों को ना मानते हुए आम लोगों को साथ में रखकर सैंकड़ों की तादाद में सड़कों पर उतरने पर मजबूर होंगे और यह हमारा संघर्ष तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार गरीब व आम आदमी को राहत नहीं देगी।

इस मौके पर उनके साथ राजेश खजुरिया, सेम शर्मा, तीरथ शर्मा, संजीव बक्शी, सोनू केसरी, विकास, अरविंद, सुभाष, श्याम बंसल, अजय कुमार, विक्रांत, सुशील, रघुवीर सिंह आदि मौजूद थे।

Next Story
Share it