Action India

अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद जम्मू-कश्मीर में विकास के संबंध में भाजपा सरकार के सभी दावे खोखले साबित

अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद जम्मू-कश्मीर में विकास के संबंध में भाजपा सरकार के सभी दावे खोखले साबित
X

जम्मू। एक्शन इंडिया न्यूज़

प्रेस क्लब जम्मू में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राजनीतिक कार्यकर्ता पोसवाल ने कहा कि अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद जम्मू-कश्मीर में विकास के संबंध में भाजपा सरकार के सभी दावे खोखले साबित हुए हैं।

पोसवाल ने जम्मू-कश्मीर के तत्कालीन राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के पीछे भाजपा सरकार की मंशा पर भी सवाल उठाया।


उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने भारतीय संविधान को नष्ट कर दिया और ठीक 730 दिन पहले धारा 370 को निरस्त कर दिया और भारत के लोगों की भावनाओं का शोषण किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कॉर्पाेरेट और अन्य क्षेत्रों में सपने बेचे जो अब झूठे साबित हुए हैं।


उन्होंने कहा कि 2013 तक कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के दौरान जम्मू-कश्मीर में स्थिति काफी बेहतर और सामान्य थी। भारत के तत्कालीन गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने श्रीनगर का दौरा किया और लाल चौक पर आइसक्रीम खाई, लेकिन मौजूदा गृह मंत्री अमित शाह ने ऐसा नहीं किया। धारा 370 के निरस्त होने के बाद भी एक बार जम्मू-कश्मीर का दौरा नही किया।


पोसवाल ने कहा कि अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद से 730 दिन बीतने के बावजूद गृह मंत्री अमित शाह, जो लौह पुरुष सरदार पटेल के अनुयायी होने का दावा करते हैं एक बार भी जम्मू-कश्मीर नहीं गए हैं।।


उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट रूप से दिखाता है कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य नहीं है जैसा कि भाजपा सरकार दावा कर रही है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की स्थिति न केवल इस केंद्र शासित प्रदेश के लिए बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए भी एक गंभीर खतरा है।

Next Story
Share it