Action India
जम्मू-कश्मीर

श्रीनगर के स्कूल में घुसे आतंकी, 2 शिक्षकों की गोली मार कर हत्या

श्रीनगर के स्कूल में घुसे आतंकी,  2 शिक्षकों  की गोली मार कर  हत्या
X

दिल्ली . एक्शन इंडिया न्यूज़

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में आतंकवादी का कहर फिर से बढ़ता जा रहा है। गुरूवार को श्रीनगर के ईदगाह इलाके के पास दिन में आतंकवादियों ने एक स्कूल को निशाना बनाते हुए उसके प्रिंसपल और एक टीचर की हत्या कर दी। मरने वाले अध्यापक में प्रिंसपल सुपिंदर कौर और शिक्षक दीपक चांद शामिल हैं। बता दें कि सुपिंदर सिख समुदाय से और दीपक चांद कश्मीरी पंडित थे। दोनों श्रीनगर के अलोचीबाग के रहने वाले थे। वे गवर्नमेंट बॉयज हायर सेकेंडरी में पढ़ाते थे।

जिस समय यह आतंकवादी स्कूल में घुसे दोनों लोग स्कूल के बाहरी कैम्पस में बैठे हुए थे। आतंकियों ने सबसे पहले उनसे उनका आई -कार्ड माँगा जिसके बाद उनका नाम पढ़कर उनपर गोली चला दी। आतंकियों ने स्कूल के 3 अध्यापक को अपना निशाना बनाया था लेकिन तीसरा अध्यापक मुस्लिम निकला। जिसकी वजह से उसे छोड़ दिया गया। गोली लगने वाले दोनों टीचर को शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट मेडिकल साइंस भेजा गया। वहां पहुंचने से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया। हॉस्पिटल के एक सीनियर डॉक्टर ने बताया कि दोनों को कई गोलियां लगी थीं।

घटना के समय स्कूल में कुल 18 अध्यापक मौजूद थे जो आगामी परीक्षा की तैयारी में जुटे हुए थे। घटना के बाद सुरक्षाबलों ने आतंकियों की तलाश शुरू कर दी है। घाटी में नागरिकों की हत्या करने की यह पिछले 5 दिनों में 7वीं घटना है, इनमें से 6 सिर्फ श्रीनगर में हुई हैं। इस साल अब तक पूरे कश्मीर में आतंकी हमलों में 25 आम लोग मारे गए हैं। इनमें श्रीनगर में 10, पुलवामा में 4, अनंतनाग में 4, कुलगाम में 3, बारामूला में 2, बडगाम में एक और बांदीपोरा में एक शामिल हैं। हालिया हत्याओं ने पूरे कश्मीर में दहशत पैदा कर दी है। हमले के बाद पूरे कश्मीर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

इस हत्या के बाद वहां के डीजीपी दिलबाग सिंह का कहना है कि " यह हत्या पूरी तरह से सोची समझी साजिश के तहत की गयी है जिससे हिन्दू मुस्लिम का सौहार्द बिगड़ जाये।आतंकवादी कश्मीर से अमन चैन और शांति को खत्म करना चाहते है। लेकिन हम उनके मनसूबे को पूरा नहीं होने देंगे"। उन्होंने कहा कि हमें पिछली घटनाओं को लेकर कुछ सुराग मिले हैं और हम इस नए केस की भी जांच करेंगे। हमने स्कूल के अन्य शिक्षकों से बात की है और वे अपने दो साथियों की मौत का यकीन नहीं कर पा रहे हैं। पुलिस उनके हत्यारों को जल्द ढूंढ निकालेगी।

Next Story
Share it