Action India
झारखंड

कृषि मंत्री ने किया एनर्जी ट्रांजिशन रोडमैप रिपोर्ट का विमोचन

कृषि मंत्री ने किया एनर्जी ट्रांजिशन रोडमैप रिपोर्ट का विमोचन
X

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़


झारखंड रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (जेरेडा), सेंटर फॉर एनवायरनमेंट एंड एनर्जी डेवलपमेंट (सीड) और झारखंड केंद्रीय विश्वविद्यालय (सीयूजे) के तत्वावधान में विमोचन समारोह का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कृषि क्षेत्र को मजबूत करने से संबंधित एनर्जी ट्रांजिशन रोडमैप रिपोर्ट का विमोचन किया, जो अगले 15 वर्षों के लिए एक दूरदर्शी नीतिगत दृष्टिकोण प्रस्तुत करता है।

इस रोडमैप को एक सामयिक और बेहद जरूरी पहल बताते हुए बादल पत्रलेख ने कहा कि ग्रामीणों की आजीविका और राज्य की आर्थिक प्रगति को सुनिश्चित करने के लिए कृषि के सौरकरण की बड़ी भूमिका है। अक्षय ऊर्जा के जरिए हम ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बेहतर कर सकते हैं और आर्थिक एवं सामाजिक जीवन में सार्थक बदलाव ला सकते हैं। राज्य सरकार विविध कार्यक्रमों एवं योजनाओं के जरिए किसानों की स्थिति बेहतर करने को लेकर प्रतिबद्ध है। हमारा विभाग इस रिपोर्ट की मुख्य सिफारिशों को योजना निर्माण के क्रम में सकारात्मक रूप से लेगा।

उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट का प्रमुख निष्कर्ष यह है कि कृषि गतिविधियों में सौर ऊर्जा के व्यापक इस्तेमाल से राज्य सरकार 12,465 करोड़ रुपये की बचत करने में सक्षम होगी। साथ ही करीब 4250 मेगावाट की संस्थापित सोलर क्षमता की वृद्धि होगी। क्लाइमेट चेंज के संदर्भ में अक्षय ऊर्जा के कई पर्यावरणीय लाभ हैं, जैसे एग्रीकल्चर के सोलराइजेशन से वर्ष 2021-22 से 2037-38 के बीच 36.4 मिलियन टन कार्बन उत्सर्जन से बचा जा सकता है।

पत्रलेख ने कहा कि करीब 2,34,000 ग्रिड कनेक्टेड सिंचाई पंप और 40,5447 स्टैंडअलोन ऑफ-ग्रिड सोलर पंप सम्मिलित रूप से 700 मेगावाट की मांग को पूरा कर सकते हैं। ग्रामीण स्तर पर कृषि उत्पादों के प्रबंधन से जुड़ी बुनियादी संरचना की दिशा में 8343 माइक्रो और मॉडल कोल्ड स्टोरेज की स्थापना से अगले 15 वर्षों में 3.64 लाख मीट्रिक टन की भंडारण क्षमता पैदा हो सकती है। इसी तरह ग्राम स्तर पर 81000 गोदामों की सुविधाओं के विकास से 160 मेगावाट की सोलर रूफटॉप की सम्भावना पैदा हो सकती है।

इस अवसर पर जेरेडा के डायरेक्टर केके वर्मा, सीड के सीईओ रमापति कुमार, प्रो एसके समदर्शी सहित अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया।

Next Story
Share it