Action India
झारखंड

मुद्दे जब मंजिल तक पहुंच जाती है तो आवाज बन जाती है

मुद्दे जब मंजिल तक पहुंच जाती है तो आवाज बन जाती है
X

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्या ने कहा कि मुद्दे जब मंजिल तक पहुंच जाती है, तो आवाज बन जाती है। ऐसा कार्य ही हम सभी मोर्चा के कार्यकर्ताओं को करना है। आज राज्य में बलात्कार की घटना बढ़ रही है। अपराधी खुले आम सड़कों पर घूम रहे है। युवा पलायन करने को मजबूर है। महिलाएं अपने घरों में ही असुरक्षित हैं और सरकार चीर निन्द्रा में सोयी हुई है। उन्होंने कहा कि विपक्ष होने के नाते हम सभी को सरकार को जगाने का काम करना है। जब तक राज्य सरकार अपने काम के तरीके को नहीं बदलेगी तब तक मोर्चा राज्य सरकार को चैन से सोने नहीं देगी। आर्या ने गुरुवार को मोर्चा की दो दिवसीय कार्यसमिति की बैठक के उद्घाटन के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता और पदाधिकारी अपनी पार्टी की रीढ़ हैं।

उनका मजबूत होने से ही पार्टी मजबूत बनेगी। केन्द्र सरकार ने कोरोना संकट काल के दौरान 80 करोड़ लोगों के बीच मुफ्त में भोजन सामग्री देने का काम किया। अनुसूचित जाति समाज के उत्थान के लिए समाज के छात्र छात्राओं के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना शुरू की है। महिलाओं को सम्मान देने के लिए शौचालय निर्माण करवाया। बाबा साहेब भीम राव अम्बेदकर के जन्म और कार्य स्थलों को पवित्र तीर्थ स्थल घोषित करते हुए उन्हें सम्मान दिया। गरीबों को लिए उज्ज्वला योजना के तहत गैस दिया गया। गरीब लोग बीमारी से परेशान न हो उसके लिए आयुष्मान योजना देश भर में लागू किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सभी को पक्के मकान उपलब्ध करवाया जा रहा है। ऐसे न जाने कितनी योजनाएं है जो सीधे रुप से दलित, गरीबों के उत्थान के लिए देश में लागु किया गया।

उन्होंने कहा कि यह एक मजबूत सोच वाले प्रधानमंत्री ही कर सकता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज देश को बाबा साहेब के आदर्शों पर चलाने का काम कर रहे हैं। पूर्व की गैर भाजपा सरकार ने अनुसूचित जाति समाज के लोगों को ठगने का काम किया है। 1947 से लेकर 2014 तक जो भी गैर भाजपा की सरकार केन्द्र में रही उन्होंने देश के दलित, गरीब को लूटने का काम किया। उन्होंने मोर्चा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि दो दिवसीय इस कार्यसमिति बैठक में संगठन और मोर्चा के विस्तार पर विशेष चर्चा की जायेगी। साथ ही राज्य सरकार की विफलताओं को चिन्हित कर उसे जनता तक पहुंचाने का काम कैसे हो इस पर भी चर्चा की जायेगी।

उन्होंने कहा कि मोर्चा के कार्यकर्ता गरीब, दलितों को कैसे मदद पहुंचा सकते हैं। इस पर भी चर्चा बैठक के दौरान की जायेगी। मौके पर भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि सरकार गरीब, दलितों के लिए ही योजनाएं तैयार करती है। लेकिन वर्तमान की राज्य सरकार गरीब दलितों को दरकिनार कर ही योजनाएं तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि झारखण्ड में 12.9 प्रतिशत आबादी अनुसूचित जाति की है और ये सभी लोग सरकार गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। लोकसभा की 14 में से एक आरक्षित सीट भी भाजपा के नाम है। वहीं विधानसभा में नौ में से छह सीटें पर भाजपा की जीत हुई है। केन्द्र और राज्य सरकार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अनुसूचित समाज आज सबसे अधिक योजनाओं से वंचित है।उन्होंने उपस्थित मोर्चा के पदाधिकारियों से आग्रह किया कि वे इन दलित गरीब समाज की आवाज बनें और उनतक सरकार की योजनाओं की जानकारी के साथ लाभ पहुंचाने का कार्य करें।

मौके पर कार्यसमिति बैठक का विषय प्रस्तुत करते हुए मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमर कुमार बाउरी ने मोर्चा से जुड़ी जानकारी बताया। उन्होंने कहा कि मोर्चा ने झारखण्ड के सभी अनुसूचित समाज के लोगों के हक अधिकार के लिए खड़ी है। समय समय पर अनुसूचित समाज के लोगों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ भी राज्य सरकार को घेरने का काम किया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2021-22 के कार्यसमिति बैठक में आगामी कार्यक्रमों की रुपरेखा तैयार की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की दो दिवसीय कार्यसमिति बैठक का उद्घाटन गुरुवार को रांची के स्वागतम बैंक्वेट हाल में हुआ है। कार्यसमिति बैठक का उद्घाटन मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्या, नेता प्रतिपक्ष बाबूलाल मरांडी, पूर्व सांसद ब्रज मोहन राम, मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमर कुमार बाउरी ने संयुक्त रूप से किया। बैठक में सिमरिया विधायक किशुन दास, जमुआ विधायक केदार हाजरा, छतरपुर विधायक पुष्पा देवी, रांची की महापौर आशा लकड़ा, पूर्व विधायक जीतू चरण राम, पूर्व विधायक रामचन्द्र नायक आदि उपस्थित थे।


Next Story
Share it