Action India
झारखंड

सातवीं तक के बच्चों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट करने की है तैयारी

सातवीं तक के बच्चों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट करने की है तैयारी
X

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़

कोरोना का संक्रमण अभी थमा नहीं है। झारखंड में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

कोरोना की वजह से राज्य के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले सातवीं तक की कक्षाएं खुलने की उम्मीद भी बहुत कम है।

संभावना जताई जा रही है कि बच्चे अगली कक्षा में प्रमोट किए जाएंगे।

हालांकि झारखंड में कक्षा आठ से 12वीं तक की कक्षा का संचालन हो रहा है।

कक्षा एक से सात तक की कक्षाएं भी अगले महीने अप्रैल से शुरू होने की संभावना थी। लेकिन कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब कक्षा सात तक के लिए विद्यालय अप्रैल से खुलने की संभावना न के बराबर है।

उल्लेखनीय है कि राज्य के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले कक्षा एक से सात तक के लगभग 30 लाख बच्चों को इस वर्ष भी बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट करने की तैयारी है। इस संबंध में स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव राहुल शर्मा ने कहा कि लगातार कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं।

ऐसे में कक्षा सात तक के लिए विद्यालय खुलने की संभावना न के बराबर है। उन्होंने कहा कि एक अप्रैल से नए सत्र भी शुरू होना है। ऐसे में बच्चों को अगली कक्षा में प्रमोट करने पर निर्णय लेना होगा। इसे लेकर विभाग की ओर से होली पर्व के बाद अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा।

जानकारी के अनुसार होली के बाद स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग की ओर से इस संबंध में पत्र जारी किया जाएगा।

अप्रैल से विद्यालय खुलने की स्थिति में शैक्षणिक सत्र 2021-22 को तीन माह तक कम करने की तैयारी थी।

अप्रैल से जून तक कक्षा संचालन कर बच्चों का मूल्यांकन किया जाता।

इसके बाद बच्चे को अगली कक्षा में प्रमोट किया जाता। अब पढ़ाई पहले की तरह ऑनलाइन जारी रहेगी।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को झारखंड में एक ही दिन में 278 संक्रमित मिले थे। इनमें रांची से 170 संक्रमित मिले थे।

Next Story
Share it