Action India
झारखंड

कोविड के बढ़ते मामलों को लेकर स्वास्थ्य सचिव ने राज्य के सभी उपायुक्त को लिखा पत्र

कोविड के बढ़ते मामलों को लेकर स्वास्थ्य सचिव ने राज्य के सभी उपायुक्त को लिखा पत्र
X

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़

स्वास्थ्य विभाग के सचिव कमल किशोर सोन ने राज्य के सभी उपायुक्तों को पत्र के माध्यम से कोविड-19 के आरटी-पीसीआर/ट्रु एनएटी द्वारा जांच के लिए उचित नमूना संग्रह तथा सघन निगरानी के संबंध में निर्देश जारी किया है। उन्होंने गुरूवार को बताया कि विगत दिनों कतिपय राज्यों केरला, महाराष्ट्र, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में कोविड-19 के संक्रमण में वृद्धि के परिपेक्ष्य में राज्य में कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण के लिए समुचित सर्विलांस, कांटैक्ट ट्रेसिंग तथा जांच की आवश्यकता है।

जिलों से यह सूचना प्राप्त हो रही है कि कोविड-19 के आरटी-पीसीआर जांच के लिए टोल प्लाजा से गुजरने वाले सभी व्यक्तियों का नमूना एकत्र कर जांच के लिए सरकारी आरटी-पीसीआर जांच प्रयोगशाला में नमूने भेजे गये हैं, जो सर्विलांस गाइडलाइंस तथा ट्रेसिंग सैंपल्स डायरेक्टीवस के अनुरूप नहीं है।

आरटी-पीसीआर/ट्रु एनएटी के माध्यम से जांच के लिए अपने जिले के ऐसे प्रक्षेत्र का प्राथमिकता के आधार पर चिन्हितीकरण किया जाये, जहां विगत 30 दिनों में कोविड-19 संक्रमण के मामले प्रकाश में आये हो एवं तदनुसार निम्नांकित प्राथमिकता को लक्ष्य बनाया जाये। उन्होंने पत्र में कहा है कि सभी जिला अंतर्गत सभी जिला अस्पताल, अनुमंडल, सीएचसी में ओपीडी मरीजों जिनमें कोविड के लक्षण प्रारंभिक तौर पर स्पष्ट रूप से पाया जाता है अथवा एसएआरआई/आईएलआई के मामले पाये जाते हैं, तो उनका कोविड जांच अनिवार्य रूप से किया जाये।

दूसरे राज्यों केरला, पंजाब, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ से आये हुए व्यक्तियों तथा उनके संपर्क में आये हुए व्यक्तियों की ट्रैवेल हिस्ट्री, कांटैक्ट ट्रेसिंग तथा सिंपटोंस के आधार पर उनका कोविड-19 की जांच के लिए नमूना एकत्रित किया जाये। प्रत्येक चिन्हित केंद्र पर सामाजिक दूरी एवं कोविड उपयुक्त से संबंधित प्राप्त दिशा निर्देश के आलोक में पब्लिक पलेस तथा भीड़ भाड़ वाले जगह पर कोविड उपयुक्त व्यवहार का अनुपालन सुनिश्चित किया जाये।

कोविड-19 के टेस्ट, ट्रैक एंड ट्रीट का अनुपालन किया जाये। सचिव ने निर्देश देते हुए कहा है कि उक्त कार्य के निष्पादन एवं जांच को त्वरित गति देने के लिए सभी जिला अंतर्गत टीम का क्षेत्रवार गठन एवं उनके निहित दायित्व तय करते हुए आवश्यक योजना बनाकर कोविड-19 की जांच की जाये।


Next Story
Share it