Action India
झारखंड

बांसलोई नदी में डूबने से जैप जवान की मौत

बांसलोई नदी में डूबने से जैप जवान की मौत
X

पाकुड़। एक्शन इंडिया न्यूज़

महेशपुर थाना क्षेत्र के गढ़वाड़ी हाई स्कूल के पीछे बहने वाली बांसलोई नदी में डूबने से जैप जवान जीतेंद्र लोहरा (22) की मौत हो गई। वह लोहरदगा जिला पुलिस बल का जवान था। फिलवक्त वह साहिबगंज जैप 9 में प्रशिक्षण ले रहा था। दुर्गा पूजा के मद्देनजर उसे अन्य 20 जवानों के साथ बतौर अतिरिक्त पुलिस बल महेशपुर में तैनात किया गया था। अतिरिक्त पुलिस बल के सभी जवान गढ़बाड़ी स्थित हाई स्कूल में ठहरे हुए थे।

शनिवार की सुबह वह अपने तीन अन्य साथियों सतीश साहू, विक्रम सिंह एवं बृजेश कुमार के साथ स्कूल के पीछे स्थित बांसलोई नदी में नहाने गया था। जिस जगह वे लोग नहा रहे थे वहां पहले से ही लगभग 20 फीट का गड्ढा बना हुआ है। जवानों को इसकी जानकारी नहीं थी। इसी दौरान जितेंद्र लोहरा पैर फिसलने से गहरे पानी में चला गया और डूब गया। पहले तो उसके साथियों ने सोचा कि वह नहाने के लिए डुबकी लगाया है। जब करीब दो-तीन मिनट तक वह पानी से बाहर नहीं निकला तो उन्होंने उसकी खोजबीन शुरू कर दी। लेकिन तब तक जितेंद्र गहरे पानी में समा चुका था। तीनों साथी उसे ढूंढने में सफल नहीं हुए तब उन्होंने मचाया। उनका शोर सुन मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण जुट गए।जिनमें से कुछ लोग नदी में कूद पड़े और जितेंद्र को ढूंढने लगे। उधर सूचना मिलते ही पुलिस निरीक्षक उमाशंकर, थाना प्रभारी सुनील कुमार रवि सदल बल मौके पर पहुंचे।

कोई पौन घंटे बाद ग्रामीणों ने ठीक उस जगह से जितेंद्र को निकाला, जहां वह डूबा था। उसे तुरंत महेशपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। जहां डॉक्टर सुनील किस्कु एवं शाहरुख अकबर ने प्राथमिक उपचार शुरू के बाद पाकुड़ सदर अस्पताल रेफर कर दिया। सदर अस्पताल के डाॅक्टरों ने जांच के बाद जीतेंद्र को मृत घोषित कर दिया। तब तक एसपी हृदीप पी जनार्दनन समेत सभी पुलिस पदाधिकारी आदि मौके पर पहुंच चुके थे। जीतेंद्र लोहरा की असामयिक मौत से न सिर्फ उसके साथियों बल्कि संपूर्ण पुलिस महकमे में शोक की लहर फैल गई है। जितेंद्र लोहरा के साथियों के मुताबिक वह वर्ष 2018 में बाल अनुकंपा के आधार पर बहाल हुआ था।

Next Story
Share it