Action India
झारखंड

लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में हुई सुनवाई

लालू के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में हुई सुनवाई
X

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले पर हाई कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई हुई। मामले की सुनवाई जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में हुई। अदालत ने सभी पक्षों को सुनने और रिम्स प्रबंधन की ओर से लालू के स्वास्थ्य रिपोर्ट एवं जेल मैनुअल उल्लंघन मामले की रिपोर्ट को देखने के बाद संतोष व्यक्त किया। साथ ही मामले की सुनवाई को तत्काल स्थगित कर दिया।

अदालत में सुनवाई के दौरान रिम्स प्रबंधन की ओर से निदेशक ने जवाब पेश किया। अदालत को बताया गया कि लालू की बीमारी को देखने के बाद डॉक्टरों की टीम गठित की गई थी। डॉक्टरों की टीम ने जो निर्णय किया, उसके मद्देनजर लालू को इलाज के लिए एम्स भेजा गया। निमोनिया, हार्ट पेन और अन्य ऐसी कई दिक्कतें पाई गई, जिसके आधार पर 23 जनवरी को मेडिकल बोर्ड ने उन्हें नई दिल्ली स्थित एम्स के लिए रेफर किया दआ।

रिम्स के निदेशक ने स्वास्थ्य रिपोर्ट दायर करने में देरी पर बताया कि उनकी मां की तबीयत बेहद गंभीर थी। इसलिए वह नहीं थे। इसके कारण समय पर रिपोर्ट नहीं सौंपी गई। लालू की स्वास्थ्य रिपोर्ट देर से जमा करने के लिए रिम्स निदेशक ने कोर्ट से मांगी माफी।

उल्लेखनीय है कि जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में पूर्व में ही आईजी प्रोविजन ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी थी। अदालत ने दोनों रिपोर्ट को देखने के बाद अपनी संतुष्टि जताते हुए मामले की सुनवाई तत्काल स्थगित कर दी है। अगली सुनवाई के लिए हाईकोर्ट में अभी कोई नई तारीख निर्धारित नहीं की है। पूर्व में लालू की जमानत याचिका की सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से यह मामला उठाया गया था कि लालू रिम्स में बीमारी के नाम पर इलाजरत हैं। वे वहां धड़ल्ले से जेल मैनुअल का उल्लंघन कर रहे हैं जो अदालत के आदेश की भी अवमानना है।

इस पर अदालत ने राज्य सरकार को जेल मैनुअल उल्लंघन और रिम्स प्रशासन को लालू के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी पेश करने को कहा था। उसी आदेश के आलोक में अदालत में जवाब पेश किया गया। राज्य सरकार की तरफ से अपर महाधिवक्ता ने अदालत के समक्ष पक्ष रखा, जबकि लालू की तरफ से अधिवक्ता अनंत कुमार विज और देवर्षि मंडल अदालत के समक्ष उपस्थित हुए।

Next Story
Share it