Action India
झारखंड

(राउंडअप) झारखंड में नक्सलियों के बंद के दौरान धमाके

(राउंडअप) झारखंड में नक्सलियों के बंद के दौरान धमाके
X
  • लातेहार में उड़ायी रेल की पटरी, चक्रधपुर में उड़ाने की कोशिश
  • तोड़फोड़ की कार्रवाई के चलते 24 से अधिक ट्रेनें हुईं प्रभावित

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़


नक्सलियों ने अपने भारत बंद के दौरान झारखंड में दो जिलों लातेहार और चाईबासा के चक्रधुपर में रेल पटरियों को निशाना बनाया। शनिवार देर रात वे एक जगह रेल पटरी उड़ाने में कामयाब हो गए, जबकि दूसरी जगह उनकी साजिश नाकाम रही। हालांकि इस कारण दोनों रेल मंडल की 24 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। नक्सलियों के बंद को देखते हुए राज्य की पुलिस हाई अलर्ट पर है।


उल्लेखनीय है भाकपा माओवादी के ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो कमेटी के सचिव प्रशांत बोस ,उनकी पत्नी केन्द्रीय कमेटी सदस्य शीला मरांडी सहित छह नक्सलियों की गिरफ्तारी के विरोध में शनिवार से नक्सलियों ने 24 घंटे का भारत बंद बुलाया है।

नक्सलियों ने बंद के दौरान शुक्रवार की देर रात लातेहार-टोरी रेल खंड पर रिचुघुटा-डेमू स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक को उड़ा दिया। बम ब्लास्ट से रेलवे ट्रॉली क्षतिग्रस्त हुई । वहां अप एवं डाउन रेलवे ट्रैक पर नुकसान पहुंचने से कई ट्रेनों के रूट डायवर्ट किये गए हैं। कुछ ट्रेनों को कैंसिल भी कर दिया गया है। रेलवे और जिला पुलिस ने मामले में छानबीन शुरू कर दी है। दोनों ट्रैक के पटरियों को दुरूस्त कर रेल परिचालन शुरू करने की कोशिश जारी है।


  • कुछ ट्रेनों को किया गया रद्द

रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार, 18102 डाउन टाटा-जम्मूतवी एक्सप्रेस को वाया डेहरी ऑन सोन के लिए रवाना किया गया है। जबकि, 13348 डाउन पटना-बरकाकाना पलामू एक्सप्रेस को गढ़वा रोड स्टेशन पर रोक दिया गया है। वहीं, बरवाडीह-गोमो डाउन पैसेंजर, अप बरकाकाना-वाराणसी बीडीएम पैसेंजर और अप बरकाकाना-डेहरी ऑन सोन बीडी पैसेंजर को रद्द कर दिया गया है।

  • हावड़ा- मुंबई रेल मार्ग हुआ बाधित

वहीं कोल्हान प्रमंडल के अंतर्गत आने वाले पश्चिमी सिंहभूम जिले में चक्रधरपुर और सोनुआ स्टेशन के बीच लोटापहाड़ रेलवे स्टेशन के पास भी रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर रेल पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। ब्लास्ट में अप और डाउन, दोनों रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गए हैं। नक्सलियों की इस कार्रवाई में ट्रैक के कई स्लीपर को नुकसान पहुंचा है। रेल पटरी टेढ़ी हो गई है।

बताया जा रहा है कि ब्लास्ट इतना जोरदार था कि रेलवे पटरी के नीचे एक से डेढ़ फीट तक गड्ढा हो गया है। ट्रैक क्षतिग्रस्त होने के कारण देर रात से ही हावड़ा-मुम्बई रेलमार्ग पर ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया है। फिलहाल चक्रधरपुर, सोनुआ, राजखरसावां आदि स्टेशनों में कई मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों को रोक दिया गया है। घटनास्थल पर रेलवे सुरक्षा बल, जिला पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारी पहुंच चुके हैं। रेलकर्मी दोनों रेलवे ट्रैक को दुरूस्त कर रहे हैं।

ज्ञातव्य है कि शीर्ष माओवादी नेता प्रशांत बोस और उनकी पत्नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी के विरोध में भाकपा माओवादी ने 15 नवंबर से 19 नवंबर तक प्रतिरोध दिवस मनाने का ऐलान किया था। शुक्रवार को इसका आखिरी दिन था, जबकि 20 नवंबर को भारत बंद का आह्वान किया गया है। इसी बीच माओवादियों ने झारखंड में अपने सबसे सॉफ्ट टारगेट 'रेल' को अपना निशाना बनाया है। माओवादियों ने टोरी-लातेहार रेलखंड के बीच केन बम ब्लास्ट कर रेल पटरियों को उड़ा दिया है।


धनबाद रेल मंडल के पीआरओ पीके मिश्रा ने बताया कि शुक्रवार रात करीब 12:50 बजे टोरी और लातेहार रेलखंड के रिचुघुटा – डेमू स्टेशन के बीच किलोमीटर पोल संख्या 206/25-27 के बीच अप एंड डाउन लाइन पर माओवादियों ने बम ब्लास्ट कर रेल पटरी को उड़ाया है। घटना के बाद डीजल लाइट इंजन संख्या 70584 की एक ट्रॉली पटरी से उतर गयी। धनबाद रेल मंडल ने बरकाकाना एवं बरवाडीह से एआरटी मंगाया है। बरकाकाना से दुर्घटना राहत यान देर रात ही पहुंच गई है। साथ ही धनबाद रेल मंडल के वरीय रेल अधिकारी रात से ही घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं। वहीं घटना के बाद से ही आरपीएफ, जीआरपी के साथ स्थानीय पुलिस हाई अलर्ट पर है।

Next Story
Share it