Action India
झारखंड

श्रद्धालुओं को ससम्मान उनके घर की ओर भेजें: डीसी

श्रद्धालुओं को ससम्मान उनके घर की ओर भेजें: डीसी
X

देवघर। एक्शन इंडिया न्यूज़

उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा तड़के सुबह बाबा बैद्यनाथ मंदिर पहुँचकर सुरक्षा व्यवस्था व विधि-व्यवस्था का जायजा लिया गया। इस दौरान उपायुक्त ने मंदिर आसपास के क्षेत्रों में तैनात दंडाधिकारियों व सुरक्षा बलों के जवानों से बातचीत कर बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ नम्रतापूर्वक अपना व्यवहार रखने की बात कही, ताकि जानकारी के अभाव में बाहर से आ गए श्रद्धालुओं को उनके घर की ओर रवाना किया जा सके।

निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने बाबा मंदिर परिसर में परंपरागत बेल पत्र प्रदर्शनी को देखते हुए कहा कि प्रत्येक सोमवार को मंदिर में लगाए जाने वाला बिल्व पत्र प्रदर्शनी अपने आप में अनोखी और अलौकिक है। इस दौरान मौके पर उपस्थित पुरोहित समाज के लोगों द्वारा जानकारी दी गई कि प्रदर्शनी की खास बात यह कि त्रिकूट पहाड़, डिगरिया, इनारावरण, गोरयारी, चांदन समेत कई स्थलों से दुर्लभ बेलपत्रों को लाकर बिल्व पत्र प्रदर्शनी लगाई जाती है। साथ ही बैद्यनाथ मंदिर में बिल्व पत्र प्रदर्शनी लगाने की परंपरा बमबम बाबा ब्रह्मचारी ने शुरू की थी, जो अनवरत जारी है।

उपायुक्त ने प्रतिनियुक्त अधिकारियों व पुलिस बल के जवानों को निदेशित किया कि श्रावणी मेला के आयोजन को स्थगित करने के बाद आप सभी जिम्मेवारी व जवाबदेही और भी ज्यादा बढ़ गयी है। बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को मेला आयोजन न होने व मंदिर बंद होने की स्थिति से अवगत कराते हुए ससम्मान उन्हें उनके घर की ओर रवाना करें। साथ ही पूरी सतर्कता और सावधानी के साथ अपने-अपने प्रतिनियुक्त स्थलों पर एक्टिव रहें।

उपायुक्त ने बताया कि राजकीय श्रावणी मेला,2021 के स्थगित होने के पश्चात श्रद्धालुओं की आस्था और सुविधा को देखते हुए सुबह होने वाली बाबा बैद्यनाथ की पूजा-अर्चना को प्रातः 4ः45 से 5ः30 बजे तक लाइव दिखाया जा रहा है। साथ ही संध्या को होने वाली श्रृंगार पूजा 7ः30 से 8ः15 बजे तक प्रसारित की जा रही है। साथ ही देवतुल्य श्रद्धालुओं को आस्था व सुविधा हेतु पूरे श्रावण माह में बाबा बैद्यनाथ के दर्शन हेतु ऑनलाइन व्यवस्था की गयी है। इसको लेकर राज्य सरकार की वेबसाइट के साथ-साथ देवघर प्रशासन के फेसबुक पेज व जिला प्रशासन की वेबसाइट पर ऑनलाइन बाबा का दर्शन श्रद्धालु कर सकते हैं। इसके अलावा विभिन्न मीडिया चैनलों के माध्यम से बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन दिखाया जा रहा है।

Next Story
Share it