Action India
झारखंड

विधानसभा में अवैध उत्खनन को लेकर भाजपा विधायकों का हंगामा

विधानसभा में अवैध उत्खनन को लेकर भाजपा विधायकों का हंगामा
X

रांची। एक्शन इंडिया न्यूज़

झारखंड विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने राज्य में बालू, पत्थर और कोयला समेत अन्य प्राकृतिक संपदा के अवैध उत्खनन का मुद्दा उठाते हुए जमकर हंगामा किया।

भाजपा विधायकों के हंगामे के बीच ही प्रश्नोत्तरकाल, शून्यकाल और ध्यानाकर्षण सूचना पर सवाल-जवाब हुआ। सभा की कार्यवाही पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होने के साथ ही भाजपा के जयप्रकाश भाई पटेल और अनंत ओझा सहित अन्य की ओर से प्राकृतिक संपदा के अनुचित दोहन का मामला उठाते हुए कार्यस्थगन प्रस्ताव पर चर्चा कराने की मांग की गई। लेकिन विधानसभा ने सभी कार्यस्थगन प्रस्ताव को अमान्य कर दिया।

इसके बाद भाजपा विधायक वेल में आकर नारेबाजी करने लगे और धरना पर बैठ गये। भाजपा विधायक सत्तापक्ष के विधायक लोबिन हेम्ब्रम और सीता सोरेन द्वारा अवैध उत्खनन को लेकर उठाये गये सवाल पर सरकार से जवाब की मांग कर रहे थे। विधानसभा स्पीकर रवींद्रनाथ महतो ने भाजपा विधायकों से सीट पर बैठने का आग्रह किया। लेकिन भाजपा विधायक वेल में ही धरना पर बैठकर नारेबाजी करते रहे। इसके बाद भाजपा विधायकों के शोर-शराबे के बीच ही प्रश्नोत्तरकाल की कार्यवाही शुरू हुई।

इस दौरान सत्तापक्ष के कई सदस्यों द्वारा पूछे गये अल्पसूचित और तारांकित प्रश्नों पर ही सरकार की ओर से जवाब दिया गया। वहीं, भाजपा विधायकों ने कोई भी प्रश्न पूछने से इनकार करते हुए कहा कि उनके सदन में रखे गये सवाल से बड़ा और ज्वलंत मुद्दा अवैध उत्खनन है। इसलिए इस पर चर्चा होनी चाहिए। इस दौरान वेल में बैठे विधायक हरि कीर्तन और भजन गाते भी नजर आये। इसमें भाजपा की महिला विधायकों की ओर से पूरा सहयोग किया गया।

प्रश्नोत्तरकाल के दौरान हंगामा कर रहे भाजपा विधायकों ने कभी हूटिंग की, तो कभी ताली बजाई, तो कभी कीर्तन करते नजर आए। इससे पहले विधानसभा के मुख्य गेट पर भी भाजपा विधायकों ने प्रदर्शन किया और मांग की कि सत्तापक्ष के दो वरिष्ठ सदस्यों लोबिन हेम्ब्रम और सीता सोरेन ने जो सवाल उठाये हैं, उसका जवाब सरकार को देना चाहिए।

Next Story
Share it