Action India

राशन की दुकान वालों की सुरक्षा को लेकर सौंपा ज्ञापन

राशन की दुकान वालों  की सुरक्षा को लेकर सौंपा ज्ञापन
X

मंदसौर। एक्शन इंडिया न्यूज़

कोरोना महामारी के दौरान उनकी सीधी सेवा में लगे लोगों को वॉरियर का दर्जा मिल जाता है और उनकी मृत्यु पर सरकार की ओर से आर्थिक सहायता भी मिलती है। पर कई वर्ग ऐसे हैं जो कर तो सेवा ही रहे हैं पर उनकी ओर किसी का ध्यान नहीं है। इन्हीं में से एक है कोरोना काल में सरकारी राशन की दुकान चलाने वाले लोग।

सरकारी सस्ते दर की दुकान संचालित करने वाले सेल्समैन अपनी जान जोखिम में डालकर राशन का वितरण कर रहे हैं। उनके लिए भी विचार किया जाए, मुख्यमंत्री को संबोधित इस आशय का तीन सूत्र ज्ञापन शहर कंट्रोल एसोसिएशन ने आपूर्ति अधिकारी के माध्यम से भेजा है ।

इस ज्ञापन में एसोसिएशन के सदस्यों ने मांग करते हुए बताया कि हाल ही में वार्ड क्रमांक 34 की शासकीय उचित मूल्य दुकान पर कार्यरत सेल्समैन मदनलाल सोनी की रतलाम मेडिकल कॉलेज में कोरोना से मृत्यु हो गई है । उनके बड़े भाई ओमप्रकाश सोनी भी रतलाम में ही भर्ती है।

मदनलाल सोनी के पुत्र व पत्नी भी इस महामारी से लड़ रहे है। एसोसिएशन की मांग है कि सोनी के परिवार को शासन द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाए जिससे इस विकट परिस्थिति में उनके परिवार को कुछ मदद मिल सके।

ज्ञापन में कहा गया है कि उचित मूल्य की दुकानों पर कार्यरत सेल्समैन को कोरोना योध्दा जैसी योजना से जोड़ा जाये तथा उन्हें कोरोना योध्दा घोषित किया जाए।

वहीं एसोसिएशन ने बताया कि वर्तमान में दुकानों पर लगी पीओएस मशीनों पर हजारों लोगो के अंगूठे प्रतिदिन लगते है ऐसे में अगर कोई पॉजिटिव का अंगूठा लग जाता है तो वह न जाने कितने लोगों को कारोना का शिकार बना सकता है और इसमें दुकान के सेल्समैन व कर्मचारियों को भी खतरा बना रहता है।

ऐसे में एसोसिएशन की मांग है कि वर्तमान में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये पीओएस मशीन पर अंगूठा नही लगाते हुए मशीन ऑफ लाईन कर सामग्री वितरण करने के आदेश प्रदान करें।

इस अवसर पर एसोसिएशन के सदस्यगण नंदकिशोर पोरवाल, नीलम हलकारा, मोहित पालीवाल, विश्व मोहन अग्रवाल उपस्थित थे।

Next Story
Share it