Top
Action India

काश्यप फाउंडेशन के सहयोग से मेडीकल कालेज में 60 बेड का नया वार्ड शुरू

काश्यप फाउंडेशन के सहयोग से मेडीकल कालेज में 60 बेड का नया वार्ड शुरू
X

रतलाम। एक्शन इंडिया न्यूज़

मेडीकल कालेज में कोविड मरीजों का दबाव निरंतर बढ़ रहा है। मरीज अधिक और स्थान कम है, बेड की कमी से मरीजों को परेशानी हो रही है। कई मरीजों का इसी वजह सेे मेडीकल कालेज में उपचार नहीं हो पा रहा है।

विधायक चेतन्य काश्यप ने आक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए अपने फाउंडेशन से 70 लाख रुपये की लागत से 70 आक्सीजन कंसट्रेटर आयात कराकर 60 बेड के नये आक्सीजन वार्ड की आज से शुरूआत की। इससे अब मेडीकल कालेज में मरीजों की प्रतीक्षा सूची में कमी आएगी तथा आक्सीजन की कमी को भी कम किया जा सकेगा।

विधायक काश्यप ने इस अवसर पर कहा कि फाउंडेशन द्वारा स्थापित किए जाने वाले 1 करोड़ 2 लाख लागत से पीएसए टेक्नोलाजी के आक्सीजन प्लाटं की शुरूआत भी अगलेे सप्ताह हो जाएगी। इस अवसर पर कलेक्टर गोपालचंद डाड, मेडीकल कालेज के डीन डा. जितेन्द्र गुप्ता सहित भाजपा के नेतागण तथा राष्ट्रीय स्वयं सेेवक संघ के विभाग कार्यवाह आशुतोष शर्मा उपस्थित थे।

विधायक काश्यप ने कहा कि कोविड-19 की महामारी में रतलाम मेडिकल कॉलेज अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। वर्तमान में 350 ऑक्सीजन के बेड यहां उपलब्ध है, लेकिन लगातार संख्या बढ़ने के कारण नए मरीजों को काफी प्रतीक्षा करना पड़ रही है। उन्होंने कहा कि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मेडिकल कॉलेज में एक नए वार्ड की आवश्यकता महसूस की जा रही थी, लेकिन लिक्विड ऑक्सीजन की कमी थी।

इनकी मदद से नए ऑक्सीजन वार्ड में माइल्ड/मॉडरेट मरीजों का उपचार होगा। काश्यप ने बताया कि ये कंसंट्रेटर हवा से सीधे ऑक्सीजन बनाते हैं, जिससे नए वार्ड में लिक्विड ऑक्सीजन की मांग निर्मित ही नहीं होगी।

काश्यप ने कहा कि नए ऑक्सीजन वार्ड के शुरू होने से मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन बेड की क्षमता 350 से बढ़कर 410 हो गई है, वहीं कुल क्षमता 450 से बढ़कर 510 बेड की हो गई है । इससे महामारी के दौर में मरीजों और उनके परिवारजन को राहत मिलेगी।

Next Story
Share it