Action India

ऑक्सीजन की कमी से निटपने को जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट की तैयारी

ऑक्सीजन की कमी से निटपने को जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट की तैयारी
X
  • ऑक्सीजन की कमी से निटपने को जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट की तैयारी
  • कोविड केयर सेंन्टर में अब 100 ऑक्सीजन बिस्तर के साथ 400 अतिरिक्त बिस्तर की व्यवस्था

अनूपपुर। एक्शन इंडिया न्यूज़

जिले में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को रोकने प्रशासन और स्वास्थ्य प्रबंधक ने भी आम नागरिकों की सुरक्षा के लिए युद्ध स्तर की तैयारी प्रारम्भ कर दी है। संक्रमितों को जीवन देने के लिए कन्या शिक्षा परिसर में 100 ऑक्सीजन की सुविधायुक्त बिस्तर के साथ 400 अतिरिक्त सामान्य बिस्तर बनाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। इस प्रकार अब सिर्फ कन्या शिक्षा परिसर में 500 बिस्तरों की व्यवस्था होगी, जबकि जिला चिकित्सालय कोविड आइसोलेशन वार्ड में सिर्फ गम्भीर मरीजों का इलाज होगा।

इसी तरह जिले के सभी 7 सीएचसी सेंटरों पर भी ऑक्सीजन सुविधायुक्त 10-15 बिस्तरों को भी तैयार रखा गया है। जबकि जिला चिकित्सालय के कोविड आइसोलेशन वार्ड सहित जरूरी वार्ड के लिए ऑक्सीजन मुहैया कराने परिसर में ही नए प्लांट स्थापना की योजना बनाई गई है, ताकि विकट परिस्थितियों में ऑक्सीजन परिवहन की दुविधा से बचते हुए प्लांट से सीधे ऑक्सीजन सुविधा मुहैया करायी जा सके। वर्तमान में सम्भाग स्तर पर जैतहरी में ही निजी कंपनी का ऑक्सीजन प्लांट है, जिसके माध्यम से अनूपपुर, शहडोल और उमरिया सहित आसपास के जिलों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है।

सीएमएचओ डॉ. एससी राय ने बताया कि पूर्व में कन्या शिक्षा परिसर में 50 ऑक्सीजन सुविधायुक्त बिस्तर तैयार करने का निर्णय लिया गया था, लेकिन जिस तरह से गम्भीर मरीजों के साथ सक्रमितों के आंकड़े सामने आ रहे हैं इसे देखते हुए अब प्रशासन ने 400 अतिरिक्त सामान्य बिस्तर और 50 अतिरिक्त ऑक्सीजन सुविधायुक्त बिस्तर के निर्देश दिए हैं। इस प्रकार कोरोना सेन्टर में सामान्य मरीजों को रखा जाएगा, जरूरत पड़ी तो ऑक्सीजन लेबल कम गम्भीर मरीजों को यहां रखते हुए डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा। यहां लगभग 500 मरीजों को रखा जा सकेगा। इसके अलावा जिला चिकित्सालय में गम्भीर 80 मरीजों को रखने की सुविधा तैयार रखी गई है। विदित हो कि जिले में वर्तमान में 637 एक्टिव संक्रमित मरीज है तथा 30 से अधिक गम्भीर मरीज हैं।

  • ऑक्सीजन प्लांट से वार्डों की जरूरत होगी पूरी-

डॉ. राय ने बताया कि कोरोना संक्रमण का खतरा जल्द समाप्त नहीं होने वाला है, इस आपदा से निपटने अब अस्पतालों को विशेष रूप से तैयार रहने के निर्देश हैं। जिला चिकित्सालय परिसर में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित होना स्वास्थ्य व्यवस्थाओं में मील का पत्थर साबित होगा। यहां कोविड आइसोलेशन वार्ड, मेटरनिटी बिल्डिंग, एसएनसीयू वार्ड, ऑपरेशन थियेटर तथा सामान्य वार्ड में भी बने ऑक्सीजन सुविधायुक्त बिस्तर बने हैं। इनकी जरूरतों को पूरा करने सिलेंडर की मांग बनी रहती है। लेकिन प्लांट स्थापित होने हम बाहरी सेवाओं के भरोसे से मुक्त रहेंगे। इसके लिए 18 अप्रैल को ही प्लांट स्थापित करने इंजीनियरों का विशेष दल अनूपपुर निरीक्षण के लिए पहुंचा है। जहां जिला प्रशासन और स्वास्थ्य प्रबंधक के दिशा निर्देश में आगे कार्य करेगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एससी राय ने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों के अनुसार अब सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है, शासकीय कन्या शिक्षा परिसर में 500 क्षमता बिस्तर की सुविधा बनाई जा रही है। जबकि जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी की जा रही है।


Next Story
Share it