Action India
मध्य प्रदेश

मप्रः फूटा कोरोना बम, इंदौर में 3169 और भोपाल में 2107 नए मामले

मप्रः फूटा कोरोना बम, इंदौर में 3169 और भोपाल में 2107 नए मामले
X

इंदौर/भोपाल। एक्शन इंडिया न्यूज़

मध्य प्रदेश में कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। राज्य के दोनों प्रमुख शहर इंदौर और भोपाल कोरोना की सबसे बड़े हाट स्पाट बने हुए हैं। यहां कोरोना के नये मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इंदौर ने नये मामलों में फिर पुराने रिकार्ड तोड़ दिया है। यहां बीते 24 घंटे में रिकार्ड 3169 नये मामले सामने आए हैं। यह एक दिन में यहां अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। वहीं, भोपाल में कोरोना के एक दिन में सर्वाधिक 2107 नये मरीज मिले हैं।

इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. बीएस सैत्या ने बताया कि शुक्रवार देर रात जारी कोविड-19 बुलेटिन के अनुसार, जिले में बीते 24 घंटे के दौरान 11,785 लोगों के सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 3169 नए संक्रमित मरीज मिले। संक्रमण की दर 26 फीसदी के करीब रही। इंदौर में अब तक मिले कोविड संक्रमितों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसके पूर्व कोरोना की दूसरी लहर के दौरान 25 अप्रैल 2021 को यहां एक दिन में सर्वाधिक 1841 संक्रमित मरीज मिले थे। इसके बाद बीते सात दिनों से इंदौर नये मामलों में लगातार नये रिकार्ड कायम कर रहा है।

बड़ी खबर यह है कि इंदौर में बीते 7 महीने बाद एक दिन में संक्रमण से 3 मौतें भी हुई हैं। मृतकों में एक 20 वर्षीय युवती के साथ 70 वर्षीय बुजुर्ग और 50 वर्षीय व्यक्ति शामिल है। युवती एमआरटीबी में जहर खाने के बाद भर्ती हुई थी। यहां टेस्ट में पॉजिटिव आई। अन्य दोनों मृतक भी दूसरी बीमारियों से पीड़ित थे। अब यहां मृतकों की संख्या 1403 हो गई है। जिले में अब तक इनमें एक लाख 80 हजार 179 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें से अभी तक एक लाख 58 हजार 436 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज बढ़कर 20,340 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों और होम आयसोलेशन में उपचार जारी है।

इधर, राजधानी भोपाल की बात करें तो यहां स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार देर रात जारी बुलेटिन के अनुसार, बीते 24 के दौरान 2107 नए संक्रमित मिले हैं। ये तीनों लहरों का एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले दूसरी लहर में 28 अप्रैल 2021 को 1853 नए केस मिले थे। दूसरी लहर 1 अप्रैल से शुरू हुई थी और 28वें दिन संक्रमण का पीक आ गया था। तीसरी लहर 25 दिसंबर 2021 से शुरू हुई है और 21 जनवरी को 28 दिन पूरे हुए हैं। भोपाल में भी एक मरीज की मौत हुई है।

इसके अलावा, ग्वालियर में 730 संक्रमित मिले हैं, जबकि 5 दिन की एक नवजात की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई। बच्ची का जन्म डबरा सिविल अस्पताल में हुआ था। तबीयत बिगड़ने पर जब जांच की गई, तो वो संक्रमित मिली। नए संक्रमितों में 27 बच्चे और 40 बुजुर्ग भी शामिल हैं। इसी तरह जबलपुर में 740 नए केस सामने आए। तीसरी लहर में ये सबसे अधिक मामले हैं। इससे पहले अप्रैल 2021 में इतने केस एक दिन में सामने आ रहे थे। हालांकि, 300 से अधिक लोग कोविड से ठीक भी हुए। जिले में एक्टिव केस की संख्या 4 हजार के लगभग पहुंच चुकी है।

Next Story
Share it