Action India

मप्र में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत, एडीजी और डीआईजी ने लगवाया टीका

मप्र में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत, एडीजी और डीआईजी ने लगवाया टीका
X

भोपाल। एक्शन इंडिया न्यूज़

मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण आज सोमवार से शुरू हो गया। इसमें प्रदेश के 2.81 लाख और भोपाल के 26 हजार फ्रंट लाइन वर्कर्स का वैक्सीनेशन होगा। फ्रंट लाइन वर्कर्स में जिला प्रशासन, पुलिस, नगर निगम के अधिकारी/कर्मचरी को रखा गया है। कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत में भोपाल संभागायुक्त कवींद्र कियावत और कलेक्टर अविनाश लावनिया समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी वैक्सीन का टीका लगवाया। इस मौके पर स्वास्थ और लोक कल्याण मंत्री प्रभु राम चौधरी ने कलेक्टर कार्यालय भोपाल में पहुंचकर फ्रंटलाइन वर्कर वैक्सीनेशन कार्यक्रम का जायजा लिया।

पुलिस विभाग की तरफ से जिला पुलिस बल के मुखिया नवागत एडीजी भोपाल जोन, भोपाल ए. साईं मनोहर द्वारा पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने हेतु प्रोतिमा मलिक हॉस्पिटल (पुलिस कंट्रोल के सामने) में आज प्रात: कोविड-19 का पहला टीका लगवाया गया। एडीजी मनोहर ने कहा कि पुलिसकर्मियों ने कोरोना काल में सडक़ पर रहकर अपनी ना केवल ड्यूटी की, बल्कि अपनी जान तक कुर्बान की। उनके बाद डीआईजी शहर इरशाद वली ने कलेक्ट्रेट में बने वैक्सीनेशन सेंटर पर कोविड-19 का टीका लगवाया। इसके अलावा जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में संभागायुक्त कविन्द्र कियावत, कलेक्टर अविनाश लवानिया ने भी वैक्सीन लगवाई। स्वास्थ और लोक कल्याण मंत्री प्रभु राम चौधरी ने कलेक्टर कार्यालय भोपाल में पहुंचकर फ्रंटलाइन वर्कर वैक्सीनेशन कार्यक्रम का जायजा लिया और कलेक्टर कार्यालय का निरीक्षण भी किया। इस दौरान कलेक्टर अविनाश लवानिया ने मंत्री को कार्यालय के सम्बन्ध में जानकारी दी।

बता दे कि भोपाल में फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या 26 हजार है। इसमें 16 हजार पुलिस कर्मी, 5 हजार नगर निगम, 3 हजार से ज्यादा रेवेन्यु और दो हजार से ज्यादा पंचायत विभाग के अधिकारी/कर्मचारी शामिल है। इससे पहले वैक्सीनेशन के पहले चरण मध्य प्रदेश में 24 हजार 228 हेल्थ वर्कर्स को ही टीका लगाया गया। जबकि कोविन एप पर 36 हजार 529 हेल्थ वर्कर्स का रजिस्ट्रेशन कराया गया था।

Next Story
Share it