Action India

पति के जाने के बाद बेटियां बनी सहारा, किराना दुकान के सहारे हो रही परवरिश

पति के जाने के बाद बेटियां बनी सहारा, किराना दुकान के सहारे हो रही परवरिश
X

अनूपपुर । एक्शन इंडिया न्यूज़

बिजुरी निवासी चंद्रवती शुक्ला के पति की मृत्यु के बाद घर की सारी जिम्मेदारी उन्हीं पर आ पड़ी। घर के माली हालत में पांच बेटियां की परवरिश मां के कंधों पर अब सबसे बड़ी चिंता बन आई। उनमें भी सबसे बड़ी चिंता और भय उनकी शादी-विवाह कैसे की जाएगी की बात अंदर से खाई जा रही थी। लेकिन यहां चंद्रवती शुक्ला ने हार नहीं मानी तथा तीन बेटियों की शादी के बाद दो बेटियों को शिक्षित करने की जिम्मेदारी निभा डाली। वर्तमान में तीन बेटिया अपना घर बसा रही है, जबकि दो बेटियां मां की आंचल में उच्च शिक्षा पा रही है।

चंद्रवती शुक्ला ने बताया कि उनके पति की मृत्यु वर्ष 2008 में हो गई थी। जिसके बाद उनकी पांच बेटियों की जिम्मेदारी उनके ऊपर आ गई। लेकिन इस कठिन समय में भी उन्होंने हिम्मत नहीं छोड़ा और बेटियों को शिक्षित करने के साथ तीन बेटियों का विवाह वह कर चुकी है।

Next Story
Share it