Action India

दस हजार की रिश्वत लेते एसआई परीक्षास्थल के बाहर ही पकड़ा

दस हजार की रिश्वत लेते एसआई परीक्षास्थल के बाहर ही पकड़ा
X

जोधपुर। एक्शन इंडिया न्यूज़


भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने कमिश्नरेट के जिला पूर्व में बनाड़ थाने के हैडकांस्टेबल नेमाराम को बुधवार को दस हजार की रिश्वत लिए जाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। उससे पूछताछ की जा रही है। ब्यूरो ने उसे पकडऩे के लिए टीम पीडि़त के साथ एसआई परीक्षा स्थल पर ऐसे घूम रही थी, मानों वे छात्र है और परीक्षा देने आए है। मगर हैडकांस्टेबल उन्हें पहचान नहीं पाया और रिश्वत लेते पकड़ा गया। सबसे बड़ी बात है कि कार्रवाई के समय हेड कांस्टेबल एसआई परीक्षा की ड्यूटी में तैनात था और कार्रवाई के दौरान वर्दी से रिश्वत की 10 हजार रुपये की राशि जब्त की गई है। हैड कांस्टेबल ने चोरी के मामले में एफ आर लगाने के एवज में रिश्वत मांगी थी। पीडि़त की तरफ से इसकी शिकायत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में दी गई थी। शिकायत की जांच के बाद प्रमाणित होने पर बुधवार को एसीबी ने कार्रवाई कर हैड कांस्टेबल नेमाराम को पकड़ लिया।

ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भोपालसिंह लखावत ने बताया कि बीजेएस निवासी विजय सिंह ने उचियारड़ा के खसरा नम्बर 17 में कुछ लोग द्वार अतिक्रमण की शिकायत बनाड़ थाने में दर्ज करवाई। ऐसे में उसने सरपंच पति हरिराम व वार्ड पंच गजेन्द्र सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। जिसकी जांच डिगाड़ी चौकी के हेड कांस्टेबल नेमाराम ने की।


तब नेमाराम ने मामले में दर्ज आरोपितों से विजय सिंह का राज़ीनामा करवा एवज में 20 हजार रुपये दिए। उसी समय हैड कांस्टेबल नेमाराम ने 6 हजार विजय सिंह से वापस ले लिए और बाकी राशि देने का दबाव बनाता रहा। इस बीच परिवादी के खिलाफ वार्ड पंच द्वारा चोरी का मुकदमा दर्ज करवाया जिसकी जांच भी हैड कांस्टेबल नेमराम कर रहा था। इस मामले में एफआर लगाने के एवज में हेड कांस्टेबल ने 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी, जिसकी शिकायत एसीबी में की। 13 सितम्बर को शिकायत का सत्यापन होने के बाद बुधवार को ट्रेप की कार्रवाई की गई।


एएसपी लखावत ने बताया कि परिवादी की रिपोर्ट पर गोपनीय सत्यापन करवाए जाने पर पता चला कि आरोपित दस हजार की डिमांड कर रहा है। इस पर उप निरीक्षक पुलिस भर्ती की परीक्षा के समय गोदारों की ढाणी ग्लोबल स्कूल में ड्यूटी के बीच हैड कांस्टेबल ने परिवादी से दस हजार रुपये लेकर वर्दी की दाहिने जेब में डाल दिए। जिसे जब्त कर लिए गए। हैडकांस्टेबल नेमाराम से अब एसीबी की तरफ से पूछताछ जारी है।

Next Story
Share it