Action India

बंगाल में दुर्गा पूजा पर राजनीति हावी, 'खेला होबे' की तर्ज पर भी बना है पंडाल

बंगाल में दुर्गा पूजा पर राजनीति हावी, खेला होबे की तर्ज पर भी बना है पंडाल
X

कोलकाता। एक्शन इंडिया न्यूज़


शक्ति की आराधना के लिए प्रसिद्ध बंगाल की दुर्गा की पूजा पर भी राजनीति हावी होती जा रही है। कोलकाता में कई स्थानाें पर विवादित और चर्चित मामलों की थीम बनाकर पंडाल बनाए गए हैं। इन्हें लेकर राजनीति भी खूब हावी हो रही है।

दमदम पार्क में किसान आंदोलन के समर्थन में बने पंडाल को जूते-चप्पलों से सजाया गया है। इसे लेकर हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने के आरोप में इसकी चौतरफा आलोचना हुई है। इसके बाद भी राज्य सरकार ने इस पूजा पंडाल को पुरस्कृत किया है। ऐसा ही बागुईहाटी में पूजा आयोजकों ने पंडाल में मां दुर्गा की जगह ममता बनर्जी की मूर्ति स्थापित की गई है। यहां ममता की मूर्ति के 10 हाथ बनाए गए हैं और उनमें राज्य सरकार की 10 योजनाओं की प्रतीकात्मक रूप से दर्शाया गया है।

दक्षिण कोलकाता में एक पंडाल विधानसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चुनावी नारे "खेला होबे" की थीम पर बनाया गया है। इस थीम को मशहूर कलाकार सौमेन घोष ने डिजाइन किया है, जो सत्तारूढ़ पार्टी के करीबी माने जाते हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि इसे हिंदू आस्था से जोड़ने की जरूरत नहीं है। "खेला होबे" का नारा इस बार पूरे देश को पसंद आया है। इसीलिए हमने इसका इस्तेमाल युवाओं को खेल के लिए प्रेरित करने के लिए किया है। घोष ने बताया कि आजकल बच्चे और युवा मोबाइल पर गेम खेलने और उसी दुनिया में सीमित रहते हैं। इस पूजा आयोजन के जरिए यह प्रेरणा देने की कोशिश की गई है कि बच्चों और युवाओं को मोबाइल गेम के बजाए आउटडोर खेलों पर ध्यान देना चाहिए, जो उनकी सेहत और सामाजिक समता के लिए बेहद जरूरी है। हालांकि मुख्यमंत्री के चुनावी नारे को आयोजन का थीम बनाए जाने को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।

Next Story
Share it