Action India
पश्चिम बंगाल

चौतरफा आलोचना के बीच कल्याण को सोशल मीडिया पर मिला श्रीरामपुर के लोगो का समर्थन

चौतरफा आलोचना के बीच कल्याण को सोशल मीडिया पर मिला श्रीरामपुर के लोगो का समर्थन
X

हुगली। एक्शन इंडिया न्यूज़

तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और डायमंड हार्बर के सांसद अभिषेक बनर्जी की नेतृत्श्रीव क्राषमता को चुनौती देकर चौतरफा आलोचनाओं का सामना कर रहे श्रीरामपुर से तृणमूल सांसद कल्याण बनर्जी को सोशल मीडिया पर अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों का समर्थन मिल रहा है।

अपने बयान को लेकर उत्पन्न हुए विवाद के बाद कल्याण बनर्जी ने सोशल मीडिया पर कवि श्रीजात की बांग्ला में लिखी दो पंक्तियां पोस्ट की। ज्यादातर लोगों ने कमेंट कर कल्याण बनर्जी के साथ अपनी शत प्रतिशत सहमति जताई और कल्याण बनर्जी को ही अपना प्रेरणास्रोत माना। अदिति मुखर्जी नामक फेसबूक यूजर ने अपने मन की की बात खुलकर कहने के लिए कल्याण बनर्जी को एक हिम्मतवाला सांसद बताया तो वहीं चिरंजीत चट्टोपाध्याय ने लिखा कि मैं एक जमाने में आपके खिलाफ हुआ करता था लेकिन आपके बिंदास और निर्भीक अंदाज ने विरोधियों को भी आपका कायल कर दिया है। हालांकि टीएमसी के कुछ छूटभैया नेताओं ने कल्याण बनर्जी को ट्रोल भी किया है। नाम न छापने की शर्त पर शनिवार को जिले के एक कद्दावर तृणमूल नेता ने बताया कि अभिषेक बनर्जी को लेकर टीएमसी के कई वरिष्ठ नेताओं में गहरा असंतोष है। कल्याण बनर्जी ने बिल्ली के गले मे घंटी बांधने का काम किया है।

उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभिषेक बनर्जी के उस बयान का तृणमूल सांसद कल्याण बनर्जी ने खुलकर विरोध किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि राज्य में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के ग्राफ के मद्देनजर वह फिलहाल दो महीने तक राज्य में नगर निगमों के चुनाव कराने के पक्ष में नहीं हैं। अभिषेक ने कहा था कि यह उनकी निजी राय है। इस पर कल्याण बनर्जी ने कहा था कि इस पद से किसी की भी कोई व्यक्तिगत राय नहीं हो सकती है। कई मुद्दों पर मेरी निजी राय भी है। यह पार्टी के अनुशासन के कारण सार्वजनिक रूप से नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने कहा था कि अभिषेक का बयान ममता बनर्जी की सरकार के खिलाफ है। एक तरह से राज्य सरकार को चुनौती दी गई है। इशके साथ ही कल्याण ने अभिषेक को गोवा में तृणमूल की जीत सुनिश्चित करने की चुनौती भी दी थी।

Next Story
Share it