Top
Action India

रेड जोन मुंबई से कांगड़ा लौटे 11 कोरोना कोरोना संक्रमितों में आठ और 11 साल के बच्चियां भी शामिल

धर्मशाला । एएनएन (Action News Network)

कांगड़ा जिला में अब तक का सबसे बड़ा कोरोना अटैक हुआ है। रेड जोन मुबंई से कांगड़ा लौटे 11 लोग एक साथ कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। संक्रमित पाए गए 11 लोगों में दो बच्चियां भी शामिल हैं। इनमें एक आठ साल की और दूसरी 11 साल की है। संक्रमित लोगों में दो परिवारों के तीन-तीन लोग शामिल हैं। कोरोना पॉजिटिव पाए गए पाए गए इन लोगों में धर्मशाला के झियोल के एक ही परिवार के तीन लोग शामिल हैं। इसी तरह सरीमोलग के भी एक ही परिवार के तीन लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

पहले पांच मामलों में धर्मशाला के झियोल के एक ही परिवार के तीन सदस्यों में बेटा उसकी मां और पत्नी शामिल हैं। वहीं एक महिला लंबागांव से और एक व्यक्ति ज्वालामुखी से है। इसी तरह छह अन्य लोगों में सरीमोलग के एक ही परिवार के पति-पत्नी और उनकी 11 साल की बेटी भी शामिल है। इसके अलावा भवारना के छजेंहड़ का एक व्यक्ति तथा बैजनाथ के समीप खोली गांव से एक युवक तथा लंबागांव की आठ वर्षीय बच्ची संक्रमितों में शामिल है।

उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने बताया कि उक्त सभी लोग बीते 18 मई को मुम्बई से आई विशेष ट्रैन से ऊना पंहुचे थे तथा वहां से बस द्वारा पालमपुर के समीप राधा स्वामी सत्संग ब्यास के परौर स्थित परिसर में लाए गए थे जहां इनकी सक्रीनिंग करने के बाद इनमें कोरोना के कुछ लक्षण पाए गए थे। इन सभी लोगों को परौर में क्वारंटाइन किया गया था। मुबंई से लौटने के बाद इन सभी के सैंपल लिए गए थे जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इन सभी को इसके बाद कोविड केयर सेंटर बैजनाथ भेज दिया गया है।

जिला में कुल मामले 33, सक्रिय मामले हो गए 24
वहीं अब कांगड़ा में कोरोना पॉजिटिव के कुल मामले 33 हो गए हैं। इनमें 24 मामले सक्रिय हो गए हैं। जबकि अभी तक जिला में आठ लोग स्वस्थ हो चुके हैं वहीं एक की मौत हो चुकी है।

कोरोना संक्रमित आए मामलों से बड़ी चिंता नही
कांगड़ा जिला में बुधवार को आए कोरोना संक्रमित मामलों से लोगों को घबराने की जरूरत नही है क्योंकि यह सभी लोग संस्थागत क्वारंटाइन थे। मुंबई से ट्रेन से ऊना लौटने के बाद इन सभी को वापिस आए अन्य लोगों की तरह ऊना से सीधा परौर स्थित राधा स्वामी सत्संग ब्यास भवन लाया गया था तथा इन्हें यहीं पर ही क्वारंटाइन किया गया था। इसके चलते यह लोग बाहर किसी भी अन्य लोगों के संर्पक में नही आ पाए थे।

कांगड़ा में अभी और बढ़ सकते हैं पॉजिटिव मामले
कांगड़ा जिला में जिस तरह से बाहरी राज्यों खासकर रेड जोन मुबंई सहित अन्य राज्यों चेन्नई और दिल्ली से लोग घर वापसी कर रहे हैं उससे आने वाले समय में जिला में कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो सकता है। जानकारी के मुताबिक प्रशासन द्वारा खासकर रेड जोन से आ रहे सभी लोगों के कोरोना टेस्ट करवाए जा रहे हैं जिससे कोरोना मामलों की संख्या में वृद्धि होने की संभावना है। जिला में इस समय करीब 53 हजार लोग बाहरी राज्यों से वापसी कर चुके हैं। जिनमें 52 हजार को घरेलू एकांतवास में रखा गया है जबकि एक हजार के करीब लोगों को संस्थागत एकांतवास में रखा गया है।

Next Story
Share it