Top
Action India

केन्द्रीय कृषि मंत्री ने कृषि टेक्नोलॉजी और कृषि किस्मों के क्षेत्र में दिए सम्मान

केन्द्रीय कृषि मंत्री ने कृषि टेक्नोलॉजी और कृषि किस्मों के क्षेत्र में दिए सम्मान
X

लुधियाना। एक्शन इंडिया न्यूज़

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की तरफ से परिषद की प्राप्तियों, प्रकाशनाें व नई टेक्नोलॉजी के संबंध में अवार्ड घोषित करने के लिए बुधवार को एक समारोह हुआ। इस समारोह के दौरान कृषि व उसके साथ जुड़े क्षेत्रों में प्राप्तियां करने वाले वैज्ञानिकों को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि व किसान भलाई मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर विशेष रूप से उपस्थित हुए। उन्होंने कहा कि यह सब भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद , किसानों की मेहनत व सरकार की अच्छी नीतियों का फल है। उन्होने कहा कि हमे दालों, तेल बीजों व बागवानी फसलों संबंधी अन्य काम करने की जरूरत है। दालों व तेल बीजों में आत्म निर्भरता लाने के लिए नई नीति लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि भाारत में मुंह-खुर की बीमारी को खत्म करने के लिए बड़े प्रयास किए जा रहे है। कृषि विद्या बहुत जरूरी है तो कि इस क्षेत्र में संपूर्ण विकास किया जा सके।

इस समारोह में जयललिता फिशरीज यूनिर्वसिटी तामिलनायड को खुष्क मछली काटने के लिए तैयार करने के लिए औजार संबंधी , घोड़ो के फ्लू के लिए एलीजा किट तैयार करने के लिए घोड़ो के राष्ट्रीय खोज केन्द्र हिसार, भैंसों संबंधी केन्द्रीय खोज हिसार को पशु के गर्भ की जांच संबंधी किट तैयार करने के लिए ,फिशरीज डिवीजन की तरफ से जैविक झिलली तैयार करने को लेकर सम्मानित किया गया।

गुरु अंगद देव वेटनरी एंड एनीमल साईंसज यूनिर्वसिटी के वाइस चांसलर डाक्टर इंदरजीत सिंह ने कहा कि नई टैक्नोलोजी व खोजें कृषि व पशु पालन के लिए वरदान है। इस सम्मान समारोह के लिए उन्होंने परिषद की प्रशंसा की ।

इस मौके पर समारोह को कृषि संबंधी राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डा. त्रिलोचन मोपात्रा विशेष सचिव संजय सिंह व उप-निदेशक डाक्टर आर.सी. अग्रवाल ने भी संबोधित किया।


Next Story
Share it