Action India
पंजाब

ट्रांसपोर्ट माफिया पर शिकंजा, बादल परिवार समेत ट्रांसपोर्टरों की 258 अवैध बसें बंद

ट्रांसपोर्ट माफिया पर शिकंजा, बादल परिवार समेत ट्रांसपोर्टरों की 258 अवैध बसें बंद
X

चंडीगढ़। एक्शन इंडिया न्यूज़

पंजाब के परिवहन मंत्री अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग ने आज फिर से विभाग के कामकाज में पूर्ण पारदर्शिता लाने और सरकारी खजाने को चूना लगा रहे टैक्स डिफॉल्टरों के विरुद्ध सख़्त कार्यवाही का संकल्प लिया।

यहाँ पंजाब भवन में परिवहन मंत्री के तौर पर अपनी 21 दिनों की उपलब्धियों के बारे में प्रेस कॉन्फ़्रेंस को संबोधित करते हुए वड़िंग ने कहा कि यह गर्व की बात है कि परिवहन विभाग ने अपनी आय में 17.24 प्रतिशत वृद्धि के साथ फिर से रफ़्तार पकड़ी है। यह वृद्धि 15 अक्टूबर तक 7.98 करोड़ रुपये बनती है। उन्होंने बताया कि विभाग की रोजाना की आय में करीब 53 लाख रुपये की वृद्धि हुई है। 15 सितम्बर से 30 सितम्बर तक विभाग को 46.28 करोड़ रुपये की आय हुई जबकि 1 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक 54.26 करोड़ रुपये रोजाना की आय दर्ज की गई।

टैक्स डिफॉल्टरों और ग़ैर-कानूनी परमिट धारकों के विरुद्ध कार्यवाही को जायज करार देते हुए राजा वड़िंग ने कहा कि लोगों के भरोसे को बहाल करने के लिए सभी कुरीतियों को दूर करना बहुत ज़रूरी था, क्योंकि डिफॉल्टर बस ऑपरेटर पिछले 10 महीनों से जिस टैक्स को देने से टालमटोल कर रहे हैं, वह उन्होंने पहले ही सवारियों से टिकटों के रूप में वसूला हुआ है।

परिवहन मंत्री ने बताया कि टैक्सों का भुगतान न करने, ग़ैर-कानूनी परमिट, दस्तावेज़ आदि की कमी के कारण अब तक लगभग 258 बसों को ज़ब्त किया गया या चालान किया गया। उल्लेखनीय है कि ज़ब्त की गई बसों में बादल परिवार, उनके करीबियों और कांग्रेस नेताओं की बसें भी शामिल हैं। डिफॉल्टरों के विरुद्ध सख़्ती के बाद विभाग ने लम्बित सरकारी टैक्स की 3.29 करोड़ रुपये की रकम वसूल की है और इसमें बड़ी रकम बड़ी कंपनियों /ऑपरेटरों द्वारा जमा करवाई गई है। राजा वड़िंग ने विशेष तौर पर कहा, ''विरोधी पार्टियों के किसी भी नेता ने यह दावा नहीं किया कि हमने टैक्स डिफॉल्टरों के विरुद्ध सख़्ती अपनाकर कुछ गलत किया है।'' उन्होंने कहा कि विभाग ने आरटीए के साथ-साथ बस डिपुओं के जनरल मैनेजरों को भी और ज्यादा शक्तियां देते हुए उनको बस स्टैंड के आसपास के 500 मीटर के घेरे में वाहनों की जांच करने के अधिकार दिए हैं।

अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग ने बताया कि नये बस अड्डे और वर्कशाप बनाने और इनके नवीनीकरण पर 400 करोड़ रुपये ख़र्च किये जाएंगे। 230 करोड़ रुपये के साथ 52 नये बस अड्डों का निर्माण किया जायेगा जबकि 70 बस अड्डों को 45 करोड़ रुपये की लागत के साथ अपग्रेड किया जायेगा। इसी तरह 81 करोड़ रुपये 16 वर्कशॉप के नये निर्माण और नवीनीकरण पर खर्च किए जाएंगे।

परिवहन मंत्री ने कहा कि 842 नयी बसें, जिनमें पंजाब रोडवेज़ की 587 और पी.आर.टी.सी. की 255 बसें शामिल हैं, खरीदने के लिए टाटा मोटर्स को पहले ही ऑर्डर दिया जा चुका है और 45 दिनों के अंदर यह नयी बसें राज्य की सड़कों पर दौड़ेंगी। उन्होंने ख़ास तौर पर बताया कि नयी बसों के लिए लगभग 800 चालकों, कंडक्टरों और अन्य स्टाफ की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

मंत्री ने बताया कि अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेटों के लम्बित मामलों के जल्द से जल्द निपटारे के लिए सभी 32 ड्राइविंग और टेस्टिंग ट्रैक शनिवार को भी खोले जाएँ, जिससे काम करने वाले और अन्य लोग उस दिन टेस्टिंग के लिए जा सकें। इसके अलावा बुकिंग स्लॉट का समय 30 से बढ़ाकर 45 दिन कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट बनाने के लिए केंद्रीयकृत आउटसोर्स एजेंसी को पाबंद किया गया है कि वह समझौते के मुताबिक निर्धारित समय सीमा के अंदर ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट भेजना यकीनी बनाए, नहीं तो देरी के लिए कंपनी पर जुर्माना लगाया जायेगा। मंत्री ने कहा कि अब व्यापारिक /ग़ैर-व्यापारिक वाहन की जांच किसी भी नज़दीकी स्थान पर की जा सकती है फिर चाहे आवेदक ने कहीं भी अर्ज़ी दी हो। उन्होंने कहा कि ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और आर.टी.ए. दफ़्तर के साथ सम्बन्धित दूसरे मामलों के हल के लिए ''विशेष पैंडैंसी मेले'' लगाए जाएंगे और पहला ''विशेष पैंडैंसी मेला'' श्री मुक्तसर साहिब में लगाया जायेगा।

वड़िंग ने कहा कि बस स्टैंड और बसों को साफ़-सुथरा रखने के लिए पखवाड़ा सफ़ाई मुहिम की शुरुआत की गई है और हर पखवाड़े के समय विभाग के सभी कर्मचारी राज्य के सभी बस स्टैंडों में सफ़ाई मुहिम में हिस्सा ले रहे हैं।

नशाखोरी के विरुद्ध ज़ीरो टोलरेंस की वचनबद्धता दोहराते हुए मंत्री ने बताया कि सरकारी बसों से तम्बाकू, पान मसाला आदि से सम्बन्धित विज्ञापन हटा दिए गए हैं। मंत्री ने लोगों से अपील की अगर किसी को बसों में ऐसे विज्ञापन मिलते हैं या अन्य किसी किस्म का उल्लंघन दिखाई देता है तो मेरे निजी व्हाट्सऐप नंबर 94784-54701 पर संपर्क किया जा सकता है।

मंत्री ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वाहन ट्रेकिंग सिस्टम तेज स्पीड और अन्य गतिविधियों के साथ-साथ लोगों के प्रति चालकों और कंडक्टरों के व्यवहार की निगरानी कर रहा है, जिसके आधार पर हर पखवाड़े के दौरान हर डिपो पर बढ़िया कामकाज वाले 3-3 चालकों और कंडक्टरों का सम्मान किया जायेगा जबकि 11 चालकों और 11 कंडक्टरों को हर महीने राज्य स्तर पर सम्मानित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्राइवेट स्कूलों /कॉलेजों, इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में पढ़ते बच्चों के लिए बस पास संबंधी प्रस्ताव सम्बन्धी मंत्रियों को आगे की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है।

Next Story
Share it