Action India
अन्य राज्य

कुशीनगर की करुणासागर पार्क परियोजना अपूर्ण, ठेकेदार को नोटिस

कुशीनगर की करुणासागर पार्क परियोजना अपूर्ण,  ठेकेदार को नोटिस
X

  • देरी को लेकर लोगों में नाराजगी

कुशीनगर । एएनएन (Action News Network)

कुशीनगर की बुद्धकालीन हिरण्यवती नदी के किनारे विकसित की जा रही करुणासागर पार्क परियोजना नियत अवधि बीत जाने के बाद भी अपूर्ण है। विकास प्राधिकरण ठेकेदार ऋषभ ट्रेडर्स को पांच बार नोटिस जारी कर चुका। बावजूद इसके फर्म पर कोई असर नहीं है।

देरी को लेकर लोगों ने भी नाराजगी जताई है। लोगों को स्वच्छ वातावरण में बैठने, टहलने व योग ध्यान के लिए कुशीनगर विकास प्राधिकरण (कसाडा) ने लगभग 93.91 लाख की लागत वाली करुणासागर पार्क परियोजना लांच की।

यह परियोजना बुद्धकालीन हिरण्यवती नदी के किनारे लांच करने का एक मकसद विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करना भी था। परियोजना के तहत बाउंड्रीवाल, बेंच, उद्यान, लैंडस्केपिंग, घाट, सीढ़ियां बनाने के साथ छायादार व शोभकार पौधे लगाए जाने थे। परन्तु शुरुआत से ही कार्य की धीमी गति व मानक को लेकर शिकायत उठने लगी।

नवम्बर 2020 से परियोजना की गति बिल्कुल ही मंद हो गई तो प्राधिकरण ने 28 सितंबर 2019 को ठेकेदार फर्म को पहली नोटिस जारी की। दिसम्बर माह में और 2020 के जनवरी व फरवरी माह की अलग-अलग तिथियों में तीन नोटिस जारी की गई।

12 मई को प्राधिकरण ने पुनः नोटिस जारी कर कार्य जल्द पूरा करने की कहा परन्तु फर्म ने अनसुना कर दिया। स्थिति यह है कि अब बरसात का मौसम आ गया है। ऐसे में लोग इधर कार्य पूर्ण होने की उम्मीद छोड़ चुके हैं। देरी से लोगों ने नाराजगी जताई है।

डॉ.मृत्युंजय ओझा, डॉ. शुभलाल साह आदि लोगों का कहना है कि सुबह की सैर के लिए करुणासागर पार्क बहुत ही उपर्युक्त स्थल होता। परन्तु कार्य पूर्ण न होने से लोग मायूस हैं। प्रशासन को कड़ा रुख अख्तियार कर जल्द कार्य पूर्ण कराना चाहिए।

इस सम्बंध में विकास प्राधिकरण के सचिव व एसडीएम कसया देश दीपक सिंह ने बताया कि अंतिम नोटिस के बाद विभाग धरोहर राशि जब्त करने की कार्यवाही करेगा। सभी प्रकार की क्षति की भरपाई ठेकेदार फर्म से की जायेगी।

Next Story
Share it