Top
Action India

नागरिकता अधिनियम के विरुद्ध गुवाहाटी में शांतिपूर्ण आंदोलन

नागरिकता अधिनियम के विरुद्ध गुवाहाटी में शांतिपूर्ण आंदोलन
X

गुवाहाटी। एएनएन (Action News Network)

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर असम में गुरुवार को शांतिपूर्ण आंदोलन जारी है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग संगठन विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि, सभी संगठन आंदोलन को शांतिपूर्ण तरीके से चलाने की भी अपील कर रहे हैं।

राज्य के शिल्पी समाज का गुवाहाटी में विरोध-प्रदर्शन जारी है, जिसमें सभी संगठन शामिल हैं। प्रत्येक दिन अलग-अलग संगठनों के नाम से आंदोलन चलाए जा रहे हैं, जिसमें हिस्सा लेने वाले लोग एक तरह के ही हैं।

उल्लेखनीय है कि आंदोलनों के चलते गत 11 से 16 दिसम्बर तक हालात बेहद तनावपूर्ण हो गए थे, जिसके चलते आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह से ठप हो गई। इससे राज्य के राजस्व को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है।

सबसे बड़ा नुकसान 15 से 17 दिसम्बर तक इंडो-जापान शीर्ष सम्मेलन के न होने से हुआ है। समिट के जरिए जापान 12 हजार करोड़ रुपये से अधिक का निवेश असम में करने वाला था, जिसके लिए राज्य सरकार ने गुवाहाटी को सजाने-संवारने पर करोड़ों रुपये पानी की तरह से बहा दिया लेकिन हिंसक आंदोलन के चलते इस पर ग्रहण लग गया।

राज्य के अनेक संगठनों ने नए कानून के विरुद्ध सुप्रीम कोर्ट में याचिकाएं दायर की हैं। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इस पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा और कांग्रेस आंदोलन के लिए एक दूसरे को जिम्मेदार ठहराने को कोशिश कर रही हैं। माना जा रहा है कि हाल-फिलहाल में यह आंदोलन बंद होने वाला नहीं है।

राज्य में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सबसे बड़ा असर ऑनलाइन कारोबार करने वाली कंपनियां पर पड़ा है। हालांकि, ब्रॉडबैंड सर्विस और मोबाइल फोन के चालू होने से लोगों को थोड़ी राहत मिली है।

Next Story
Share it