Top
Action India

महानगरों से लौटकर आए लोगों ने शिक्षा की ली जिम्मेदारी, बनाया 'स्वदेश दल'

महानगरों से लौटकर आए लोगों ने शिक्षा की ली जिम्मेदारी, बनाया स्वदेश दल
X

जौनपुर । एएनएन (Action News Network)

सिकरारा ब्लाक अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय ताहिरपुर के प्रधानाध्यापक अमित सिंह द्वारा पूरे विश्व में फैली कोरोनावायरस महामारी के दौरान स्कूलों में पूर्ण तालाबन्दी में अपने विद्यालय के बच्चों को पढ़ाने के लिए एक अनोखा प्रयास किया है। जो क्षेत्र ही नहीं जनपद के शिक्षकों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

अमित ने महानगरों में फैले कोरोना वायरस से बचने के लिए ताहिरपुर गांव आए प्रवासी पढ़े- लिखे युवाओं से गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में पढ़ रहे बच्चों को पढ़ाने के लिए उनसे सहयोग मांगा गया तो सभी लोग अमित के इस अनोखी पहल को औरो के लिए अनुकरणीय बताते हुए अपने ज्ञान, कौशल व हुनर को स्कूली बच्चों के साथ साझा करने के लिए तैयार हो गए। अमित के इस अनुकरणीय प्रयास को सफल बनाने के लिए सभी लोग संकल्प लेते हुए अपने गांव के नौनिहाल बच्चों को जो इस समय पूर्ण तालाबन्दी में स्कूल जाने से वंचित है उनके लिए हर सम्भव प्रयास का भरोसा दिलाया।

इसके लिए स्वदेश दल का गठन किया गया। जिसमें गांव के युवाओं को जोड़ा गया है। ये बच्चों को दीक्षा एप्प, यू—ट्यूब, मिशन प्रेरणा वीडियो, दूरदर्शन, रेडियो के माध्यम से शिक्षण कार्य सुनिश्चित करेंगे। साथ ही युवाओं ने बच्चों व ग्रामवासियों को मोबाइल रिपेयर, इलेक्ट्रीशियन जैसे तकनीकी ज्ञान भी साझा करेंगे।

एक्शन इंडिया समाचार से बात करते हुए अमित सिंह ने बताया कि गांव के बच्चों को भी शहर के बच्चों की तरह मोबाइल ऐप वह गूगल मीट के जरिए पढ़ाई जाने के लिए यह प्रयास किया जा रहा है। जिसमें हमारे गांव में जो प्रवासी लौटे हैं वह पूरा सहयोग कर रहे हैं। बच्चों को उनके अभिभावकों को इसके द्वारा पढ़ाया जा रहा है। जिससे बच्चों का छुट्टियों में नुकसान ना हो साथ ही तकनीकी माध्यम की जानकारी मोबाइल के द्वारा गूगल मीट के द्वारा गांव में आये लोगों द्वारा बच्चों तक पहुंचाया जा रहा है।

एक्शन इंडिया समाचार से बात करते हुए सिकरारा के खंड शिक्षा अधिकारी राजीव कुमार यादव ने बताया कि अभिभावकों को गूगल मीट व दीक्षा एप्प के बारे में बताया गया है। ताकि बच्चों का शिक्षण कार्य बाधित न हो। इस कार्य में लगे लोगों से सीधा संवाद स्थापित किया गया है और युवाओं के हौसले और जज्बात की तारीफ किया। अभिभावकों में जयमूर्ति यादव ने शिक्षकों के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि वे सभी बच्चों को एक जगह इक्कठा करके शिक्षा देंगे। इसी प्रकार अभियंता अतुल सिंह ने अपने गांव के प्रति जिम्मेदारी समझते हुए बच्चों को शिक्षण कार्य कराने हेतु विद्यालय के व्हाट्सप्प कार्यों को बच्चों तक पहुंचाने का जिम्मा लिये हैं।

गांव के निवासी डॉ प्रदीप कुमार मौर्य जो कि उत्तरांचल में प्रोफेसर हैं, उन्होंने भी घर-घर जाकर बच्चों को पढ़ाया और सराहना किया। इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक मनोज कुमार व मंजू जैसवार ने मौर्य बस्ती, अमित सिंह व अमर बहादुर यादव ने ठाकुर बस्ती, माली बस्ती और शर्मा बस्ती व शिवम सिंह ने लखेसर ग्राम में जनसम्पर्क करके लोगों को शिक्षण कार्य के बारे में लगातार जागरूक कर रहे हैं।

Next Story
Share it