Top
Action India

फलोदी सोलर प्लांट हमला प्रकरण: आईजी ने गठित की 21 सदस्यों की टीम

फलोदी सोलर प्लांट हमला प्रकरण: आईजी ने गठित की 21 सदस्यों की टीम
X

अपराधियों की सरगर्मी से तलाश, टास्क बनाकर हरेक को पांच बदमाशों का पकडऩे का निर्देश

जोधपुर। एएनएन (Action News Network)

निकटवर्ती फलोदी के ढढु गांव में निर्माणाधीन सोलर प्लांट पर हमले व फायरिंग के साथ आगजनी के मुख्य बदमाशों की धरपकड़ के लिए जोधपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सचिन मित्तल ने पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में 21 सदस्यीय टीम गठित की है। टीम के प्रत्येक अधिकारी-जवान को पांच-पांच बदमाशों की धरपकड़ का टास्क दिया गया। उधर, हमले के मास्टरमाइण्ड व कोटा पुलिस के निलम्बित कांस्टेबल सहित चार आरोपितों को न्यायिक अभिरक्षा और दो जनों की रिमाण्ड अवधि बढ़ाने के आदेश दिए।

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) राहुल बारहठ के अनुसार हमले के मामले में अब तक दस लोगो को गिरफ्तार किया जा चुका है। कोटा पुलिस के निलम्बित कांस्टेबल प्रभुराम व बचनाराम हमले के मास्टरमाइण्ड हैं। हमले का मुख्य आरोपित बचनाराम भादू सहित अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इनकी तलाश की जा रही है।

कांस्टेबल को भेजा जेल:
पुलिस ने बताया कि रिमाण्ड अवधि समाप्त होने पर कोटा पुलिस के निलम्बित सिपाही प्रभुराम भादू, उसके भतीजे राजेश व सुरेन्द्र, रमेश पुत्र भीखाराम बिश्नोई, सुभाष बिश्नोई और दिनेश बिश्नोई को अदालत में पेश किया गया। इनमें से सुभाष व दिनेश बिश्नोई की रिमाण्ड अवधि दो-दो दिन और बढ़ाने के आदेश दिए गए। निलम्बित कांस्टेबल सहित अन्य को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

बदमाशों को पकडऩे लिए दिया टास्क:
उल्लेखनीय है कि चालीस वाहनों में सवार डेढ़ सौ से दो सौ बदमाशों ने हथियारों से लैस होकर सोलर प्लांट पर धावा बोला था। इनमें से सौ से अधिक लोगो को नामजद किया गया है। इनकी जल्द गिरफ्तारी के लिए रेंज स्तरीय विशेष टीम गठित की गई। सिरोही के उपाधीक्षक मदनसिंह के नेतृत्व में निरीक्षक नरेन्द्र पूनिया, सात थानाधिकारी, पांच उप निरीक्षक, चार एएसआई, दो हेड कांस्टेबल और एक कांस्टेबल को शामिल किया गया है। विशेष टीम की फलोदी में बैठक ली गई जिसमें बदमाशों की जल्द से जल्द धरपकड़ पर चर्चा की गई। प्रत्येक अधिकारी व जवान को चार से पांच बदमाशों को पकडने का टास्क दिया गया।

Next Story
Share it