Action India

इंग्लैंड में लीग क्रिकेट के दौरान नस्लीय दुर्व्यवहार का शिकार हुआ था : फिल सिमंस

इंग्लैंड में लीग क्रिकेट के दौरान नस्लीय दुर्व्यवहार का शिकार हुआ था : फिल सिमंस
X

मैनचेस्टर । एएनएन (Action News Network)

वेस्टइंडीज के कोच फिल सिमंस ने खुलासा किया है कि इंग्लैंड में लीग क्रिकेट के दौरान उन्हें नस्लीय दुर्व्यवहार का शिकार होना पड़ा था। सिमंस लीसेस्टरशायर टीम के एक महत्वपूर्ण सदस्य थे। लीसेस्टरशायर ने 1996 में काउंटी चैम्पियनशिप जीती थी। वह 80 और 90 के दशक में इंग्लैंड में विभिन्न लीगों में भी खेले थे।

एक खेल वेबसाइट को दिये साक्षात्कार में सिमंस ने कहा, "मुझे लीगों में काफी नस्लवाद का सामना करना पड़ा है। हालांकि काउंटी क्रिकेट में, मुझे वास्तव में उतना सामना नहीं करना पड़ा। लेकिन मैंने लीग में इसका सामना किया है।"

उन्होंने कहा, "इन तरह की चीजों का सामना करना अच्छी बात नहीं है। विशेष रूप से लीग में जहां आप कभी-कभी अपने आप से होते हैं। इस घटना ने मेरी पत्नी को काफी प्रभावित किया था। यह अच्छी बात नहीं है। मैंने तीन या चार अलग-अलग लीग में खेला था।"सिमंस ने भी पुष्टि की है कि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला शुरू होने पर वेस्टइंडीज टीम ब्लैक लिव्स मैटर आंदोलन के साथ अपनी एकजुटता दिखाएगी।

उन्होने कहा,"हम निश्चित रूप से उन चीजों के बारे में सोच रहे हैं जो हम आंदोलन के साथ अपनी एकजुटता दिखाने के लिए कर सकते हैं। निश्चित रूप से हमारी एकता और इसके प्रति हमारी प्रतिक्रिया दिखाने की योजना है।" उन्होंने कहा, "इंग्लिश टीम के साथ बातचीत चल रही है और इस सप्ताह के अंत तक हम देखेंगे कि हम एक साथ क्या कर सकते हैं।"

बता दें कि एक श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन ने अपने घुटने से जॉर्ज फ्लॉयड नाम के एक अफ्रीकी-अमेरिकी व्यक्ति के गले को दबा दिया था, जिससे उस व्यक्ति का निधन हो गया था। फ्लॉयड के निधन के बाद 'ब्लैक लाइव्स मैटर' आंदोलन ने गति पकड़ ली है।

फ्लॉयड के निधन के बाद से, कई खिलाड़ी नस्लवाद के साथ अपने अनुभव के बारे में बात करने के लिए सामने आए हैं। विंडीज के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल ने भी कहा कि उन्होंने नस्लवाद का सामना किया था।

गेल ने कहा कि यह एक मिथक है कि नस्लवाद का खतरा सिर्फ फुटबॉल में मौजूद है। गेल के अलावा डैरन सैमी ने 2014 आईपीएल के दौरान सनराइजर्स हैदराबाद कैंप के भीतर भी नस्लवाद का आरोप लगाया था।

प्रीमियर फुटबॉल लीग ने पिछले सप्ताह अपने निलंबित सत्र को फिर से शुरू किया है, जिसमें सभी टीमें 'ब्लैक लाइव्स मैटर' आंदोलन के साथ एकजुटता दिखाने के लिए एक मजबूत संदेश भेज रही हैं।

Next Story
Share it