Action India
अन्य राज्य

प्रधानमंत्री देखेंगे सिरसा नदी के जीर्णोद्वार का कार्य, मनरेगा श्रमिकों से करेंगे संवाद

प्रधानमंत्री देखेंगे सिरसा नदी के जीर्णोद्वार का कार्य, मनरेगा श्रमिकों से करेंगे संवाद
X

  • सिरसा नदी के पुनर्जीवित होने से सैकड़ों गांव होंगे लाभाविन्त

फिरोजाबाद । एएनएन (Action News Network)

जनपद में लुप्त हो चुकी सिरसा नदी प्रवासी मजदूरों की मदद से मनरेगा के तहत फिर से पुनर्जीवित होगी। इस नदी के पुनर्जीवित होने से 40 से अधिक ग्राम पंचायतों के तहत सैकड़ों गांव के ग्रामीणों को इसका लाभ मिलेगा।

26 जून को देश के प्रधानमंत्री इस सिरसा नदी पर हो रहे जीर्णोद्वार के काम को यूवी वैन के माध्यम से देखेंगे साथ ही इस नदी को संवारने में जुटे मनरेगा श्रमिकों से संवाद भी करेंगे। जिसके लिये जिला प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी है। प्रशासनिक अधिकारी व विधायक प्रतिदिन निरीक्षण कर कार्य को गति प्रदान करने में जुटे हुये है।

जनपद में सिरसा नदी एटा से टूण्डला के गांव रामगढ़ उम्मरगढ़ से जिले में प्रवेश करती है। इसके बाद नारखी, हाथवंत, शिकोहाबाद, अरांव और मदनपुर ब्लाक के गांवो से होते हुये 99.40 किमी का लंबा सफर तय करती है।

कभी किसानों को सिचाई के लिये वरदान सावित होने वाली सिरसा नदी बिगत गई बर्षों से सूख कर मात्र बारिश नदी होकर रह गई थी। जगह-जगह बने चैक डेम भी इसे जीवित नहीं रख सके थे। कोरोना महामारी के कारण देश में हुये लाकडाउन के बीच ग्रामीण इलाकों के प्रवासी श्रमिकों को रोजगार की समस्या कम करने के लिये प्रदेश सरकार ने उन्हें मनरेगा के तहत काम दिलाये जाने पर जोर दिया था।

लाकडाउन के बाद एक जून से जिला प्रशासन ने प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने व सिरसा नदी को पुनर्जीवित करने के लिये इस नदी पर काम शुरू करा दिया। सिरसा नदी को संवारने के लिये ग्राम पंचायतों से मनरेगा के तहत लगभग डेढ़ हजार से अधिक प्रवासी मजदूर काम काम कर रहे है।

मनरेगा मजदूर इस नदी को पुनर्जीवित करने में पूरी मेहनत व लगन से जुटे हुये है। जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह, सीडीओ नेहा जैन, जिला विकास अधिकारी अरविन्द जैन, भाजपा विधायक मनीष असीजा के साथ अन्य अधिकारी व ग्राम प्रधान भी इस नदी को पुनर्जीवित करने में अपना योगदान दे रहे है। वह प्रतिदिन स्थलीय निरीक्षण कर मनरेगा मजदूरों को हौंसला बढ़ाकर कार्य को गति प्रदान कर रहे है।

मंगलवार को भाजपा विधायक मनीष असीजा ने सिचाई विभाग के अधिकारियों के साथ शिकोहाबाद ब्लाक के अन्तर्गत ग्रामसभा नावली, इंदुमई, आरोंज आदि क्षेत्र में सिरसा नदी की खुदाई कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान सर्वाधिक खराब स्थितियों वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर आगामी सफाई की योजना बनाई।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने बताया कि नदी प्रवाहमान होने के पश्चात इसके आस पास के क्षेत्रों का समग्र विकास होगा। भूगर्भ जल स्तर बढ़ने के साथ किसानों को भरपूर पानी मिलेगा। खारे पानी की समस्या से निजात मिलेगी तथा वनस्पतियां, हरियाली, जलीय जीव जन्तु, पशु पंक्षियों की अनुपम छटा हो जायेगी।

26 जून को प्रधानमंत्री करेंगे संवाद

देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 26 जून को देशभर के प्रवासी मजदूरों से संवाद करेंगे। उनके इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेष सरकार ने सिरसा के जीर्णोद्वार कार्य को भी शामिल किया है। प्रधानमंत्री से श्रमिकों के संवाद को लेकर तय स्थान पर सैटेलाइट से लिंक एक यूवी वैन भेजी जायेगी जो प्रधानमंत्री को सिरसा नदी पर हुये काम को दिखाने के साथ ही श्रमिकों से संवाद करायेगी।

जिले के लिये सौभाग्य की बात

भाजपा विधायक मनीष असीजा ने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देषभर में मनरेगा और प्रवासी श्रमिकों के द्वारा किये जा रहे इस प्रकार के बड़े कार्याें का अनुरक्षण सैटेलाइट युक्त यूवी वैन के माध्यम से देखा जायेगा। जिसमें वह कार्य का स्थलीय निरीक्षण देखेंगे और श्रमिकों से यहां की परिस्थतियों व उनके काम के बारे में जानकारी लेंगे।

उन्होंने कहा कि यह हमारे लिये सौभाग्य की बात है कि उत्तर प्रदेष में जनपद फिरोजाबाद की सिरसा नदी के इस प्रोजेक्ट को प्रधानमंत्री के 26 जून के इस कार्यक्रम के लिये चयनित किया गया है। हमें भरोसा है इस मृत सिरसा नदी को पुनर्जीवित करने के महाअभियान में प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री की दृष्टि, उनका ध्यान व उनकी चिंता से यह काम जनपद फिरोजाबादवासी वहां के नागरिकों के लिये उपहार स्वरूप होगा।

क्या कहते है जिलाधिकारी

जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ने बताया कि सिरसा नदी को एक मनरेगा प्रोजेक्ट के रूप में लिया गया है। यह नदी जनपद में 100 किमी की दूरी तय करती है तथा लगभग 40 ग्राम पंचायतों को कबर करती है। हर ग्राम पंचायत में प्रवासियों के आने के बाद सभी मजदूरों, प्रवासियों को लगाकर इस नदी पर जीर्णोद्वार का काम कराया जा रहा है।

इसको गहरा कराने के साथ जो भी अबरोध है उसको हम दूर कराने का काम कर रहे है। इसकी लगातार मानीटरिंग की जा रही है। इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को देखते हुये उत्तर प्रदेश सरकार ने भी 26 जून को प्रधानमंत्री का जो कार्यक्रम होने जा रहा है। उसके लिये चयनित किया है। इसमें जो काम किया जा रहा है।

उसकी एक झलक इस कार्यक्रम में रहेगी। उन्होंने बताया कि यूवी वैन आयेगी जिसके द्वारा जो कार्य हो रहा है। उसका निरीक्षण किया जायेगा। अभी कार्यक्रम का पूरा फाइनल प्रारूप नही आया है। लेकिन बताया गया है कि इसमें मजदूरों से भी बात की जायेगी और जो ग्राम प्रधान बाकी लोग है उनसे भी बात की जायेगी।

Next Story
Share it